PM मोदी Cabinet expansion: नए चेहरों पर लगाया गया दांव

PM मोदी ने बुधवार (सात जुलाई) शाम कैबिनेट का सबसे बड़ा विस्तार किया। इस दौरान 43 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई, जिनमें 36 नए चेहरे हैं। वहीं, सात नाम ऐसे भी हैं जिनको प्रमोशन दिया गया है। हरदीप सिंह पुरी, किरण रिजिजू, मनसुख मांडविया, जी किशन रेड्डी, अनुराग सिंह ठाकुर, पुरुषोत्तम रूपाला के आलावा राजकुमार सिंह को प्रमोशन दिया गया है। पीएम मोदी की इस नई टीम में कई युवा, प्रोफेशनल चेहरों को मौका मिला है, तो वहीं कुछ मंत्रियों की छुट्टी भी हुई है।

बतौर वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर अपनी कैबिनेट मंत्री निर्मला सीतारमण की परछाई बनकर हिंदी भाषियों के बीच वित्त मंत्रालय की योजनाओं को बखूबी पहुंचाने का काम किया। संसद में भी भाजपा की ओर से युवा नेता की छवि के साथ आक्रामक तेवर के सरकार की छवि के लिए भिड़ते दिखते हैं। हिमाचल में अगले साल होने वाले चुनाव को देखते हुए अनुराग का प्रमोशन राज्य की राजनीति में महत्व रखेगा।

कोरोना काल में सबसे अहम रोल स्वास्थ्य मंत्रालय के पास ही रहा था। पिछले डेढ़ साल से देश में जो कुछ भी हो रहा है, उसके केंद्र में स्वास्थ्य मंत्रालय भी रहा है लेकिन अब डॉक्टर हर्षवर्धन को कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान जिस तरह केंद्र सरकार पर सवाल उठे, उसने ना सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी मोदी सरकार की छवि को नुकसान पहुंचाया, ऐसे में कैबिनेट विस्तार में इसका असर दिखा।

कोरोना काल में शिक्षा क्षेत्र काफी प्रभाव पड़ा, पिछले करीब डेढ़ साल से स्कूल लगभग बंद ही हैं। बच्चे घरों पर ही पढ़ाई कर रहे हैं, ऑनलाइन एजुकेशन पर पूरा ज़ोर चला गया है। ऐसे में कोरोना काल में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका शिक्षा मंत्रालय की भी रही। लेकिन अब इस मंत्रालय से रमेश पोखरियाल निशंक की छुट्टी हो गई है

loading...