कोरोना की चपेट में आया इस संगीतकार का परिवार

‘आशिकी’ का यादगार संगीत देने वाली मशहूर संगीतकार जोड़ी नदीम-श्रवण के श्रवण राठौड़ का गुरुवार शाम निधन हो गया। दो दिन पहले उनके कोरोना संक्रमित होने की खबर सामने आई थी। श्रवण को डायबिटीज था, जिससे चलते कोरोना से उनके फेफड़े पूरी तरह संक्रमित हो चुके थे। श्रवण का इलाज रहेजा हॉस्पिटल में चल रहा था।

श्रवण बॉलीवुड के जाने-माने संगीतकार थे। उन्होंने नदीम सैफी के साथ मिलकर कई फिल्मों में बेहतरीन संगीत देकर पॉपुलैरिटी हासिल की थी। नदीम-श्रवण की जोड़ी 90 के दशक की सबसे चर्चित जोड़ियों में से एक थी।

इस जोड़ी ने पहली बार 1977 में भोजपुरी फिल्म ‘दंगल’ के लिए म्यूजिक दिया था जिसमें इनका कंपोज किया गाना ‘काशी हिले पटना हिले’ काफी हिट रहा। इसके बाद दोनों ने पहली बार बॉलीवुड फिल्म ‘जीना सीख लिया’ के लिए संगीत दिया। दोनों को सक्सेस फिल्म ‘आशिकी’ में दिए संगीत के कारण मिली थी, जो कि म्यूजिकल हिट साबित हुई थी। उस वक्त इस एल्बम की करीब 2 करोड़ कॉपी बिकी थीं।

दर्शन राठौड़ ने शिवाजी पार्क में कोरोना प्रोटोकॉल के तहत पिता का अंतिम संस्कार किया। अस्पताल में भर्ती होने की वजह से श्रवण की पत्नी और बड़े बेटे संजीव उन्हें अंतिम विदाई देने नहीं आ सके। इससे पहले दर्शन श्रवण का शव लेने एस एल रहेजा हॉस्पिटल पहुंचे थे। वहां से BMC की एम्बुलेंस के जरिए शव शिवाजी पार्क ले जाया गया।

 

loading...