रमज़ान 2021: रोज़े के दाैरान सहरी और इफतारी में खाएं ये चीज़ें

तपती गर्मी और धूप में हर इंसान की खाने से ज्यादा लिक्विड पीने की इच्छा रहती है। खाने-पीने की आदतों की वजह से बॉडी में कमजोरी हो सकती है। ऐसे मौसम में रमज़ान का रोज़ा रखना काफी मुश्किल काम है। इस मौसम में बॉडी को खास केयर की जरूरत होती है। 

शुगर के मरीजों को सलाह दी जाती है कि सबसे पहले खुद को रोजा रखने के लिए मानसिक तौर पर तैयार करें। रमजान शुरू होने से पहले अपने डॉक्टर की सलाह पर दवाइयों और फूड की लिस्ट और इस्तेमाल करने का तरीका तैयार कर लें। सेहरी में देर से पचनेवाले फूड का इस्तेमाल करें। 

रोज़े में आपको कमज़ोरी महसूस नहीं हो उसके लिए आपको सेहरी में लाइट और हेल्दी चीजें खानी चाहिए। सेहरी में अंडा, आटे की रोटी या परांठा, ताजे फल, जूस लेना फायदेमंद हो सकता है। कोशिश करें कि सेहरी में कॉफी, कोल्ड ड्रिंक्स या सोडा वाली चीजें न खाएं पीएं। भारी खाना जैसे बिरयानी, कबाब, पिज्जा और फास्ट फूड का सेहरी में सेवन नहीं करें।

इफ्तार के समय एक दम ज्यादा लिक्विड या पानी का सेवन नहीं करें वरना पेट भरा हुआ महसूस होगा और आप कुछ भी खा नहीं सकेंगे। ज्यादा पानी पीने से खाना पचता नहीं है। खजूर से रोज़ा खोलें, यह सेहत के लिए फायदेमंद है। खजूर में आयरन होता है, जिससे शरीर को ऊर्जा मिलती है। 

कोलेस्ट्रोल बढ़ने की आशंका के मद्देनजर अंडे का इस्तेमाल न करें। हालांकि, आधी जर्दी के साथ अंडा खाया जा सकता है। अंडे का इस्तेमाल किसी अन्य फूड के साथ मिलाकर भी किया जा सकता है। ज्यादा प्यास लगनेवाले डायबिटीज के मरीजों को सेहरी में इलाइची का कहवा इस्तेमाल करना चाहिए।

सुबह सहरी के समय और शाम को इफ्तार के दौरान दही, दाल, सूखा मेवा, हरी सब्जी, फल, कच्चा पनीर, दाल, दूध को अपनी डाइट में शामिल करें। रोजादार फाइबरयुक्त चीजों को अपने खाने में जरूर शामिल करें।

loading...