आज है महाशिवरात्रि, ऐसे करें जलाभिषेक, दूर होगी सभी समस्याएं

आज यानी 11 मार्च 2021 को देश भर में महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जायेगा। हिन्दू पंचांग के अनुसार, हर साल  फाल्गुन मास के कृष्णपक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है।

इस वर्ष महाशिवरात्रि पर विशेष योग बन रहा है। इस दिन शिव योग के साथ  सिद्ध योग भी बन रहा है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन जलाभिषेक करने से शिव भक्तों पर शिव भगवान की कृपा बरसेगी। उनकी कृपा से शिव भक्तों की सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

इस दिन शिव भक्त भोलेनाथ की भक्ति में लीन रहते हैं। इस दिन शिवजी के साथ-साथ देवी पार्वती जी की भी पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन शिवजी की पूजा करने से उनका विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन भगवान शिव और देवी पार्वती का विवाह संपन्न हुआ था। इसलिए हिंदू धर्म में रात्रि कालीन विवाह मुहूर्त को बेहद उत्तम माना गया है। 

इस दिन तंत्र, मंत्र साधना, तांत्रिक पूजा, रुद्राभिषेक करने के लिए जो मुहूर्त रहेगा वो 12 बजकर 25 मिनट से 1 बजकर 12 मिनट तक श्रेष्ठ होगा। गृहस्थ को सुबह और संध्या काल में शिवजी की पूजा करनी चाहिए। इसका मुहूर्त 2 बजकर 40 मिनट से होगा। इसी समय से चतुर्दशी लग रही है तो दोपहर के बाद शिवजी की पूजा करना बेहद विशेष होगा। इससे विशेष फल की प्राप्ति होती है।

loading...