नई दिल्ली: तस्करों के पेट से निकले ड्रग्स के कैप्सूल!

Web Journalism course

तस्करों के खिलाफ लगातार धरपकड़ जारी है और देश में इनके ठिकानो पर कार्यवाही के क्रम में पुलिस ने दो ड्रग्स तस्करों को गिरफ्तार किया है. ये तस्कर ड्रग्स भरे कैप्सूल निगलकर दिल्ली आए थे.उनके कब्जे से हेरोइन और मेथाकुलोन के 900 कैप्सूल बरामद किए गए हैं.  दक्षिणी-पूर्वी दिल्ली जिले के पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिश्वाल के मुताबिक, मूलरूप से अफगानिस्तान के रहने वाले इन तस्करों की पहचान अब्दुल सलम रहमानी (35) और अब्दुल हकीम जुनैदी(42) के रूप में हुई है. दोनों तस्कर आइजीआइ एयरपोर्ट की सुरक्षा में सेंध लगाकर ड्रग्स समेत वहां से बाहर निकल गए थे. फिर इन्हें सप्लाई करने के लिए लाजपत नगर इलाके में छिपकर रहने लगे, लेकिन लाजपत नगर पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया.

उनसे 465 ग्राम कैप्सूल में हेरोइन और 425 ग्राम मैथाकुलोन का कैप्सूल बरामद हुआ है. बिश्वाल ने बताया, 11 अप्रैल की रात पुलिस को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि दो अफगानी कस्तूरबा निकेतन में ठहरे हुए हैं. वे पेट में ड्रग्स भरे कैप्सूल छिपाकर अफगानिस्तान से दिल्ली आए हैं. एसीपी लाजपत नगर ब्रिजिंदर सिंह की देखरेख व एसएचओ लाजपत नगर इंस्पेक्टर पंकज मलिक के नेतृत्व में एसआइ सुभाष चंद, कांस्टेबल विनीत, विशाल, शंभू दयाल की टीम बनाई गई. रात में ही पुलिस टीम इलाके में सिविल ड्रेस में तैनात कर दी गई. पुलिस ने दो लोगों को रात में आते देखा. वे बैग लिए कस्तूरबा विहार से जल विहार टर्मिनल की तरफ जा रहे थे. शक होने पर पुलिस ने तलाशी ली तो उनके पास से ड्रग्स मिला.

पुलिस दोनों को अस्पताल लेकर गई. डॉक्टरों ने ऑपरेशन करके उनके पेट से 60 से अधिक कैप्सूल निकाले. इससे कुल 900 ग्राम हेरोइन और मेथाकुलोन निकली.तस्करों ने पुलिस को बताया कि इन कैप्सूलों की रेव पार्टी में काफी मांग है. पांच सितारा होटल और स्कूल, कॉलेज के छात्र भी इनके ग्राहक होते हैं. मेथाकुलोन का नशा काफी तेज होता है. इसके ओवरडोज से मौत भी हो जाती है. तस्करों ने बताया कि वे अफगानिस्तान में डॉक्टरों की मदद से पेट में कैप्सूल डाल लेते हैं, जिससे यात्रा के समय पुलिस की पकड़ में न आएं. इससे उनके पेट में भयंकर दर्द भी होता है. पुलिस इनके और साथियों के बारे में पता लगा रही है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.