IPL 2018: धोनी बोले- मुजीब की बोलिंग से पड़ा फर्क…

Web Journalism course

रविवार को इंडियन प्रीमियर लीग में एक और रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नै सुपर किंग्स के बीच खेले गए मुकाबले में आखिरी गेंद तक रोमांच बना रहा। चैन्ने के सामने पंजाब ने 198 रनों का लक्ष्य रखा लेकिन वह 5 विकेट पर 193 रन ही बना सकी। मैच में चेन्नै को चार रनों से हार मिली। 

 चेन्नै के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 44 गेंदों पर 79 रनों की धमाकेदार पारी खेली लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला पाए। मैच के बाद धोनी ने कहा कि इस समय उनके दिमाग में कुछ नहीं चल रहा है। धोनी ने मैच के बाद पंजाब के ऑफ स्पिनर मुजीब-उर-रहमान की काफी तारीफ की। धोनी ने कहा कि उनकी गेंदबाजी ने मैच में काफी अंतर डाला। 

इस अफगान बोलर ने इस मैच में 3 ओवरों में सिर्फ 18 रन दिए। मुजीब की गेंदों पर चेन्नै के बल्लेबाजों को रन बनाने में काफी परेशानी हुई।

धोनी ने मैदान पर ओस की बात को भी नकारा। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मैदान पर ओस थी। पंजाब ने हमसे बेहतर क्रिकेट खेला। हम कुछ क्षेत्रों में सुधार कर सकते हैं।’ धोनी ने क्रिस गेल की भी तारीफ की। आईपीएल के इस सीजन में अपना पहला मैच खेलने वाले गेल ने पंजाब को ताबड़तोड़ शुरुआत दी। उन्होंने महज 33 गेंदों पर 7 चौकों और चार छक्कों की मदद से 63 रन बनाए। धोनी ने कहा कि गेल की पारी ने पंजाब को मजबूत आधार दिया और इससे मैच पर काफी अंतर पड़ा। 

ब्रावो से पहले रविंद्र जडेजा को बल्लेबाजी करने के लिए भेजने के सवाल पर धोनी ने कहा कि कोच स्टीफन फ्लेमिंग डग आउट में होते हैं और वही सभी फैसले लेते हैं। उन्होंने कहा, ‘जडेजा बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और गेंदबाजों के लिए यह आसान नहीं होता। हमनें उन्हें मौका देना सही समझा। अगर जडेजा फ्लोटर की भूमिका निभा पाएं तो यह टीम के लिए काफी अच्छा होगा क्योंकि टॉप पर हमारे पास रैना हैं।’ 

अपनी चोट के बारे में धोनी ने कहा कि उन्हें अपनी कमर की हालत के बारे में नहीं पता। यह हालांकि ठीक होनी चाहिए। ईश्वर ने मुझे काफी शक्ति दी है इसलिए मैं सिर्फ अपनी कमर के भरोसे नहीं रहता हूं। धोनी ने कहा, ‘वैसे भी मुझे चोटों के साथ खेलने की आदत हो गई है।’ 

 रविवार को इंडियन प्रीमियर लीग में एक और रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। किंग्स इलेवन पंजाब और चेन्नै सुपर किंग्स के बीच खेले गए मुकाबले में आखिरी गेंद तक रोमांच बना रहा। चैन्ने के सामने पंजाब ने 198 रनों का लक्ष्य रखा लेकिन वह 5 विकेट पर 193 रन ही बना सकी। मैच में चेन्नै को चार रनों से हार मिली। 

 चेन्नै के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 44 गेंदों पर 79 रनों की धमाकेदार पारी खेली लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला पाए। मैच के बाद धोनी ने कहा कि इस समय उनके दिमाग में कुछ नहीं चल रहा है। धोनी ने मैच के बाद पंजाब के ऑफ स्पिनर मुजीब-उर-रहमान की काफी तारीफ की। धोनी ने कहा कि उनकी गेंदबाजी ने मैच में काफी अंतर डाला। 

इस अफगान बोलर ने इस मैच में 3 ओवरों में सिर्फ 18 रन दिए। मुजीब की गेंदों पर चेन्नै के बल्लेबाजों को रन बनाने में काफी परेशानी हुई। 

धोनी ने मैदान पर ओस की बात को भी नकारा। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मैदान पर ओस थी। पंजाब ने हमसे बेहतर क्रिकेट खेला। हम कुछ क्षेत्रों में सुधार कर सकते हैं।’ धोनी ने क्रिस गेल की भी तारीफ की। आईपीएल के इस सीजन में अपना पहला मैच खेलने वाले गेल ने पंजाब को ताबड़तोड़ शुरुआत दी। उन्होंने महज 33 गेंदों पर 7 चौकों और चार छक्कों की मदद से 63 रन बनाए। धोनी ने कहा कि गेल की पारी ने पंजाब को मजबूत आधार दिया और इससे मैच पर काफी अंतर पड़ा। 

ब्रावो से पहले रविंद्र जडेजा को बल्लेबाजी करने के लिए भेजने के सवाल पर धोनी ने कहा कि कोच स्टीफन फ्लेमिंग डग आउट में होते हैं और वही सभी फैसले लेते हैं। उन्होंने कहा, ‘जडेजा बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और गेंदबाजों के लिए यह आसान नहीं होता। हमनें उन्हें मौका देना सही समझा। अगर जडेजा फ्लोटर की भूमिका निभा पाएं तो यह टीम के लिए काफी अच्छा होगा क्योंकि टॉप पर हमारे पास रैना हैं।’ 

अपनी चोट के बारे में धोनी ने कहा कि उन्हें अपनी कमर की हालत के बारे में नहीं पता। यह हालांकि ठीक होनी चाहिए। ईश्वर ने मुझे काफी शक्ति दी है इसलिए मैं सिर्फ अपनी कमर के भरोसे नहीं रहता हूं। धोनी ने कहा, ‘वैसे भी मुझे चोटों के साथ खेलने की आदत हो गई है।’ 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.