IPL-11: आखिरी गेंद पर छक्का लगाकर भी नहीं जिता सके धोनी अपनी टीम को!

किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स को रविवार को खेले गए रोमांचक मुकाबले में 4 रन से हरा दिया है. टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 197 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स के सामने 198 रनों का लक्ष्य रखा. जवाब में चेन्नई सुपर किंग्स 20 ओवर में 193 रन ही बना पाई और पंजाब यह मैच 4 रन से जीतने में कामयाब रही. CSK की तरफ से कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 44 गेंदों में नाबाद 79 रन बनाए, लेकिन वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए.

CSK को जीत नहीं दिला पाए माही

अपने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (79) की शानदार पारी के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स को पंजाब के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा. चेन्नई ने अब तक अपने दोनों मैच जीते थे, लेकिन तीसरे मैच में उसे हार मिली है.

चेन्नई सुपर किंग्स के ओपनिंग बल्लेबाज शेन वॉटसन (11) और मुरली विजय (12) टीम को अच्छी शुरूआत नहीं दे पाए. चेन्नई का पहला विकेट 17 के ही कुल स्कोर पर गिरा. वॉटसन को मोहित शर्मा ने बरिंदर सरां के हाथों कैच आउट कर पवेलियन भेजा.

इसके बाद एंड्रयू टाय ने विजय को पिच पर टिकने का मौका नहीं दिया. वह भी बरिंदर के हाथों लपके गए. विजय के पवेलियन लौटने के बाद टीम की पारी संभालने उतरे सैम बिलिंग्स (9) और अंबती रायडू (49) ने तीसरे विकेट के लिए 17 ही रन जोड़े थे कि यहां पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने बिलिंग्स को एलबीडब्ल्यू आउट कर चेन्नई को तीसरा झटका दिया.

चेन्नई पर पहली हार का साया मंडरा रहा था, यहां कप्तान धोनी ने अंबती रायडू के साथ 57 रनों की शानदार अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम को 100 के आंकड़े के पार पहुंचाया. दोनो ने अच्छी लय हासिल कर ली थी, लेकिन यहां अश्विन एक बार फिर चेन्नई की परेशानी बनकर खड़े हो गए.

अश्विन ने 113 के कुल स्कोर पर अंबाती रायडू को रन आउट कर पवेलियन भेज दिया. वह अपना अर्धशतक पूरा करने से केवल एक रन दूर रह गए. उन्होंने 35 गेंदों पर 49 रन बनाते हुए पांच चौके और एक छक्का लगाया.

एक बार फिर चेन्नई पर दबाव बन गया. उसे जीत के लिए अब भी 85 रनों की जरूरत थी और टीम के पास केवल 36 गेंदें बाकी थी. रायडू के पवेलियन लौटने के बाद रवींद्र जड़ेजा (19) धोनी के साथ पिच पर टीम की पारी को आगे बढ़ाने उतरे. जड़ेजा अपने बल्ले से रन नहीं निकाल पा रहे थे और उसके पास 24 गेंदें बाकी थी और उसे अब भी जीत के लिए 67 रनों की जरुरत थी.

ऐसे में दोनों बल्लेबाजों को एक चौके और छक्के लगाने जरूरी थे. चेन्नई को यहां एंड्रयू टाय ने एक और झटका दिया. उन्होंने जड़ेजा को अश्विन के हाथों कैच आउट करा पांचवां विकेट गिराया.

यहां से चेन्नई के लिए जीत मुश्किल थी और इस कारण उसे चार रनों से करीबी हार का सामन करना पड़ा. चेन्नई की टीम 193 रन ही बना पाई.

गेल के तूफान में उड़ी चेन्नई सुपर किंग्स 

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 20 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 197 रन बनाए और चेन्नई सुपर किंग्स के सामने 198 रनों का लक्ष्य रखा.

क्रिस गेल ने पंजाब के लिए ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए 33 गेंदों में 63 रन ठोक दिए. गेल ने 190 के स्ट्राइक रेट से खेली गई अपनी पारी में 7 चौके और 4 छक्के लगाए.

क्रिस गेल के बेहतरीन अर्धशतक के अलावा लोकेश राहुल (37) और मयंक अग्रवाल (30) की उपयोगी पारियों की मदद से किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ सात विकेट पर 197 रन का मजबूत स्कोर बना लिया.

लोकेश राहुल ने 37 और मयंक अग्रवाल ने 30 रन का योगदान दिया. पंजाब की टीम एक समय 11.3 ओवर में दो विकेट पर 127 रन बनाकर मजबूत स्थिति में थी, लेकिन इसके बाद बीच के ओवरों में लगातार अंतराल पर विकेट खोने के चलते टीम 197 रन तक ही पहुंच सकी.

चेन्नई के गेंदबाज ताहिर ने 14वें ओवर की पहली और दूसरी गेंद पर लगातार दो विकेट लेकर पंजाब की रफ्तार को थाम दिया. ड्वेन ब्रावो ने आखिरी ओवर में मात्र चार रन ही दिए और एक विकेट भी हासिल किया.

पंजाब की तरफ से गेल के अलावा राहुल ने 22 गेंदों पर सात चौकों की मदद से 37, मयंक ने 19 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों के सहारे 30, युवराज सिंह ने 13 गेंदों पर दो चौके और एक छक्के के दम पर 20, करुण नायर ने 17 गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की बदौलत 29 और कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने 11 गेंदों पर एक छक्के की मदद से 14 रन बनाए.

चेन्नई की तरफ से ताहिर ने 34 रन पर दो विकेट, ठाकुर ने 33 रन पर दो विकेट, हरभजन सिंह ने 41 रन पर एक विकेट, शेन वॉटसन ने 15 रन पर एक विकेट और ब्रावो ने 37 रन पर एक विकेट हासिल किया.

धोनी ने टॉस जीतकर पंजाब को दी पहले बैटिंग

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया और किंग्स इलेवन पंजाब की टीम को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया.

चेन्नई ने इस मैच के लिए सुरेश रैना की जगह मुरली विजय को टीम में शामिल किया है. वहीं पंजाब ने अक्षर पटेल के स्थान पर बरिंदर सरां को और मार्कस स्टोइनिस की जगह क्रिस गेल को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.