75th Independence Day: लाल किले की प्राचीर से यह बाेले PM माेदी

75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से 8 वीं बार देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने शुभकामनाएं देते हुए कहा कि देश को आगे बढ़ाने वालों का अभिनंदन करता हूं, आप सभी अमृत महोत्सव को और पूरे विश्व भर में भारतीय लोकतंत्र को प्रेम करने वाले लोगों को बहुत बहुत शुभकामनाएं। PM ने डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ सफाई कर्मी, वैक्सीन निर्माता और कोरोना महामारी के समय लोगों की सेवा करने वाले हर व्यक्ति की सराहना की और उनका आभार जताया।

पीएम ने बताया की पूरे विश्व में सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान भारत में चलाया जा रहा है। हमारे देश में अबतक 54 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

पीएम मोदी ने किसानों को संदेश देते हुए कहा कि देश में परिवार विभाजन ने किसानों की भूमि को छोटा कर दिया है लेकिन अब हमें इन छोटे-छोटे किसानों को ही देश की शान बनाना है। इसके अलावा पीएम मोदी ने कहा देश के हर गरीब तक पोषण पहुंचाने का काम सरकार की प्राथमिकता है।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में भाषा रुकावट नहीं बनेगी। खेल को इसका मुख्य हिस्सा बनाया गया है। देश के सैंकड़ों पुराने कानूनों को खत्म किया गया। कोरोना काल में भी 15 हजार से ज्यादा अनुपालनों को समाप्त किया गया।

पीएम मोदी ने कहा कि मैन्युफैक्चरिंग की दिशा में तेजी से काम चल रहा है। मैन्युफैक्चरिंग से देश की प्रतिष्ठा जुड़ी होती है। आज भारत मोबाइल फोन निर्यात करने वाला देश बन गया है।

पीएम मोदी ने अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि यह गौरव कल की ओर ले जाएगा। ‘अमृतकाल 25 वर्ष का है, लेकिन इतना लंबा इंतजार नहीं करना है, अभी से जुट जाना है। यही समय है, सही समय है, हमें खुद को बदलना होगा। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और अब सबका प्रयास, लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए आवश्यक है।

पीएम मोदी ने कहा कि बंटवारे का दर्द आज भी सीने को छलनी करता है। 14 अगस्त को विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस के तौर पर याद किया जाएगा।

इस अवसर पर पीएम मोदी ने लाल किले पर मौजूद ओलंपिक खिलाड़ियों के लिए तालियां बजवाकर सम्मान किया। पीएम ने कहा कि इन्होंने सिर्फ पदक जीतने का काम नहीं किया बल्कि यह अब लाखों खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा बन गए हैं। आपको बता दें भारत ने इस साल ओलंपिक इतिहास में सबसे अच्छा प्रदर्शन करते हुए कुल 7 मेडल अपने नाम किया। सबसे खास बात यह रही कि ओलंपिक के 127 साल के इतिहास में भारत ने पहले बार ट्रैक एंड फील्ड इंवेट में गोल्ड पर कब्जा जमाया। भारत के लिए यह कारनामा जैवलीन थ्रो में नीरज चोपड़ा ने किया

loading...