विपक्ष के मार्च पर भाजपा ने किया ये पलटवार

कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुवाई में कई विपक्षी दलों के नेताओं ने गुरुवार को संसद भवन से विजय चौक तक मार्च निकाला। पेगासस, कृषि कानूनों और राज्यसभा में अपने सांसदों से कथित बदसलूकी समेत कई मुद्दों पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

 भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि  संसद के इतिहास में पहली बार हुआ है कि लाबी में कांच का गेट तोड़ दिया गया जिससे एक सुरक्षाकर्मी भी हताहत हुई है। वो भी अस्पताल में है। जिस प्रकार का व्यवहार आज कांग्रेस पार्टी और कुछ अन्य विपक्षी पार्टियां सड़क पर उतरकर कर रही हैं, उससे पूरा देश और लोकतंत्र शर्मसार हुआ है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि विपक्ष ने पेगासस, किसानों के मुद्दों और मूल्य वृद्धि का मुद्दा उठाया लेकिन उन्हें संसद के अंदर बोलने की अनुमति नहीं दी गई। 

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, ‘देश की जनता इंतजार करती है कि उनसे जुड़े हुए विषयों को सदन में उठाया जाए, वहीं विपक्ष का सड़क से संसद तक एकमात्र एजेंडा सिर्फ अराजकता रहा। घड़ियाली आंसू बहाने की बजाए इनको(विपक्ष) देश से माफी मांगनी चाहिए।’ 

संसदीय मामलों के मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा, ‘कांग्रेस व उनके सहयोगी दलों ने पहले ही फैसला कर लिया था कि संसद को नहीं चलने देंगे। हम राज्यसभा अध्यक्ष से नियम तोड़ने वाले विपक्षी सांसदों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करते हैं।’ 

loading...