उत्तरप्रदेश सरकार ने पेश किया राज्य का सबसे बडा बजट

उत्तरप्रदेश सरकार ने आज लगभग पांच लाख पचास हजार 270 लाख करोड रूपये का, राज्य का सबसे बडा बजट पेश किया। पहली बार किसी राज्य में कागज रहित बजट पेश किया गया है।

जानकारी के अनुसार वित्तमंत्री सुरेश खन्ना ने बजट पेश करते हुए कहा कि इसका उद्देश्य समाज के सभी वर्गों का समग्र विकास और राज्य को आत्मनिर्भर बनाना है।
    
वित्तमंत्री ने कहा कि बजट में चार क्षेत्रों – बुनियादी विकास, जनस्वास्थ्य, मानव संसाधन विकास और कृषि पर प्रमुखता से जोर दिया गया। बजट में नब्बे हजार 721 करोड रूपये वित्तीय घाटे का अनुमान व्यक्त किया गया है। राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई नई परियोजनाओं के लिए लगभग 27 हजार 598 करोड रूपये आवंटित किए गए हैं।

किसानों के कल्याण के लिए आत्मनिर्भर कृषक समन्वित विकास योजना का प्रस्ताव किया गया है। राज्य सरकार ने  महिला सामर्थ्य योजना के तहत बेसहारा महिलाओं को न्यायालय से भरणपोषण भत्ता मिलने तक वित्तीय सहायता देने की घोषणा की है।

श्री सुरेश खन्ना ने राज्य सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले वर्ष कोरोना काल के दौरान लगभग बीस लाख कामगारों को वित्तीय सहायता दी गई है और चालीस लाख से अधिक लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचाया गया। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों की हर प्रकार से सहायता की और गन्ना किसानों को एक लाख 23 करोड रूपये का भुगतान किया। 

इस सीजन में किसानों को, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की गई धान की खरीद के लिए  11 हजार 145 करोड रूपये से अधिक राशि का ऑनलाइन भुगतान किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 27 हजार 110 करोड रूपये किसानों के खातों में अंतरित किए गए।

loading...