Health Tips- अल्सर और कैंसर दूर करने में मदद करती है लौंग, कई और भी हैं फायदे

हमारी रसोई में पाया जाने वाला एक और बेहद कॉमन लेकिन औषधीय गुणों से भरपूर मसाला है लौंग. खाने की खूशबू और स्वाद बढ़ाने के लिए भारतीय व्यंजनों में बड़ी मात्रा में लौंग का इस्तेमाल किया जाता है.

एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) और एंटीबैक्टीरियल (Antibacterial) खूबियों से भरपूर लौंग, हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ ही ब्लड शुगर को भी कंट्रोल करती है, लिवर को हेल्दी बनाए रखने में मदद करती है और पेट के अल्सर को भी कम करने में मदद करती है.

लौंग खाने से शरीर में गर्मी आती है. खासकर दांत के दर्द (Tooth Pain) के लिए तो लौंग को रामबाण की तरह माना जाता है. 1 चम्मच यानी करीब 2 ग्राम लौंग में 1 ग्राम फाइबर (Fiber), 1 ग्राम कार्ब्स, 6 कैलोरी, रोजाना की जरूरत का 55 प्रतिशत मैंगनीज और 2 प्रतिशत विटामिन के होता है. हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ ही ब्रेन फंक्शन को बेहतर बनाने के लिए भी मैंगनीज को जरूरी खनिज के रूप में जाना जाता है.

लौंग ट्यूमर (Tumour) के ग्रोथ को रोककर कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने की प्रक्रिया को बढ़ाता है. लौंग में पाया जाने वाला यूजेनॉल (Eugenol) एंटीकैंसर प्रॉपर्टी है.

लौंग में पाया जाने वाला कंपाउंड्स पेट के अल्सर (Stmoach Ulcer) के इलाज में मदद करता है. पेट के अल्सर को पेप्टिक अल्सर भी कहते हैं और लौंग में पाया जाने वाला तेल गैस्ट्रिक म्यूकस को बढाता है जिससे अल्सर के इलाज में मदद मिलती है. 

लौंग में पाया जाने वाला कंपाउंड ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखने में फायदेमंद है. लौंग का अर्क डायबिटीज (Diabetes) के मरीजों में ब्लड शुगर को बढने से रोकने में मदद करता है.

लौंग में पाया जाने वाला यूजेनॉल लिवर (Liver) के लिए भी काफी फायदेमंद है और फैटी लिवर की बीमारी होने से रोकता है. 

 

 

loading...