पराक्रम दिवस के शुभारंभ पर बाेले PM Modi- नेताजी के सपने काे कर रहे साकार

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर पश्चिम बंगाल के कोलकाता में पराक्रम दिवस का शुभारंभ किया।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि नेताजी का नाम सुनते ही मन ऊर्जा से भर जाता है। आज के दिन गुलामी के अंधेरे में चेतना फूटी थी। नेताजी को नमन, उनकी माता जी को नमन करता हूं। प्रधानमंत्री ने कहा कि नेताजी की व्याख्या के लिए शब्द कम पड़ जाते हैं। उन्होंने संकल्प लिया था कि भारत की जमीन पर आजाद सरकार की नींव रखेंगे। उनका त्याग युवाओं के लिए प्रेरणा है, उन्होंने देश के लिए मरने का मकसद दिया।

श्री मोदी ने कहा कि नेताजी भारत के पराक्रम की प्रतिमूर्ति भी हैं और प्रेरणा भी हैं। हम सब का कर्त्तव्य है कि नेताजी के योगदान को पीढ़ी दर पीढ़ी याद किया जाये। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने बंगाल की पुण्य भूमि को आदरपूर्वक नमन करते हुए कहा कि यह वहीं पुण्य भूमि है, जिसने देश को राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत दिया है। प्रधानमंत्री ने आज पराक्रम दिवस पर नेताजी की स्मृति में डाक टिकट और सिक्का जारी किया। उन्होंने आजाद हिंद फौज -आईएनए से जुड़े लोगों और स्‍वाधीनता सेनानियों को भी सम्‍मानित किया।

 इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज दक्षिण कोलकाता स्थित नेताजी भवन पहुंचे। उन्होंने नेशनल लाइब्रेरी का दौरा भी किया और कलाकार-दीर्घा का अवलोकन किया, इसके बाद वह विक्टोरिया मेमोरियल पहुंचे, जहां प्रधानमंत्री ने नेताजी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। प्रधानमंत्री ने विक्टोरिया मेमोरियल में प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया, यह प्रदर्शनी अगले दो साल तक चलेगी। इस दौरान उनके साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी भी मौजूद रहीं।

loading...