भारतीय स्टेट बैंक ने बच्चाें के लिए पेश की बेहतरीन बचत याेजना

देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक  ने नाबालिग के लिए ‘पहला कदम और पहली उड़ान’ बचत खाता पेश किया है.

इस अकाउंट की खासियत ये है कि इसमें मिनिमम बैंलेंस मेनटेंन करने का झंझट नहीं है. साथ ही, इसमें में खाता खोलने पर आपके बच्चे को उसकी फोटो छपा एटीएम  कार्ड के साथ इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा भी मिलेगी. आइए आपको बताते हैं इस खाते के बारे में…

कोई भी नाबालिग बच्चा किसी उम्र यह अकाउंट खोल सकता है, लेकिन यह अकाउंट पैरेंट या अभिभावक के साथ ज्वाइंटली खोला जा सकता है.

पहला कदम और पहली उड़ान, दोनों खातों में प्रति दिन ट्रांजैक्शन लिमिट 5,000 रुपये है और मोबाइल बैंकिंग की लिमिट 2,000 रुपये है. नाबालिग इस खाते से बिल पेमेंट्स, इंटर-बैंक फंड्स ट्रांसफर (सिर्फ NEFT), डिमांड ड्राफ्ट बनाने और ई-टर्म डिपॉजिट्स कर सकते हैं.

पहला कदम और पहली उड़ान में बचत बैंक खाता के समान ही ब्याज मिलते हैं. 1 लाख रुपये से कम सेविंग ब्याज पर SBI की ब्याज दर 3.25% है. वहीं 1 लाख रुपये ज्यादा पर ब्याज पर 3 फीसदी है.

इसमें डेबिट कार्ड पर बच्चे का फोटा होता है. इस कार्ड से कैश निकालने की सीमा 5,000 रुपये है और यह नाबालिग और अभिभावक के नाम जारी किया जाता है. 

इसमें पर्सनलाइज्ड चेकबुक नाबालिग के नाम अभिभावक को जारी की जाती है. यह 10 चेक वाला चेकबुक होता है. इस खाते में 10 चेक बुक वाला चेकबुक नाबालिग के नाम जारी किया जाएगा अगर वह Uniformly हस्ताक्षतर कर सकता है.

 

loading...