मुथूट फाइनेंस पर और मनप्पुरम फाइनेंस पर लगाई RBI ने इतने की पेनल्टी

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बताया कि उसने मुथूट फाइनेंस, एर्नाकुलम पर 10 लाख रुपए और मनप्पुरम फाइनेंस, थ्रिसुर पर 5 लाख रुपए की पेनाल्टी लगाई है।

RBI ने एक बयान में कहा कि मुथूट फाइनेंस पर गोल्ड लोन में लोन टू वैल्यू रेश्यो को मेंटेन करने और 5 लाख रुपए से ज्यादा गोल्ड लोन को मंजूरी देने में ग्राहक के पैन कार्ड की कॉपी लेने के निर्देशों का पालन नहीं करने के कारण जुर्माना लगाया गया है। RBI ने एक दूसरे बयान में कहा कि मनप्पुरम फाइनेंस पर इसलिए जुर्माना लगाया गया, क्योंकि उसने गोल्ड ज्वेलरी की ओनरशिप के वैरीफिकेशन से जुड़े निर्देश का पालन नहीं किया।

RBI ने हालांकि दोनों ही मामलों में स्पष्ट किया कि रेगुलेटरी कंप्लायंस में कमी रहने के कारण कार्रवाई की गई है। कंपनी और ग्राहक के बीच हुए किसी भी लेन-देन या समझौते की वैधता से इस कार्रवाई का कोई संबंध नहीं है।

मालूम हाे कि मुथूट फाइनेंस और मनप्पुरम फाइनेंस दोनों गोल्ड लोन का कारोबार करती हैं।

मुथूट फाइनेंस के बारे में RBI ने कहा कि 31 मार्च 2018 और 31 मार्च 2019 को कंपनी की वित्तीय स्थिति का निरीक्षण किया गया था, जिसमें नॉन-कंप्लायंस का पता चला। RBI ने कंपनी को नोटिस भेजकर पूछा था कि नॉन-कंप्लायंस के लिए उस पर जुर्माना क्यों न लगाया जाए। मनप्पुरम फाइनेंस के मामले में भी RBI ने 31 मार्च 2019 को कंपनी की वित्तीय स्थिति का निरीक्षण किया था। इसी दौरान निर्देशों के नॉन-कंप्लायंस का पता चला।

loading...