Chhath Puja 2020- कैसे करें काेराेना काल में छठ पूजा, जानें ज़रूरी बातें

आज छठ पूजा है। नहाय-खाय से लोक आस्था का महापर्व छठ प्रारंभ हो चुका है। इस बार कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण सार्वजनिक स्थानों पर लोग एकत्र होने से बच रहे हैं और यह बचाव के लिए जरूरी भी है। इस बार कई राज्य सरकारों ने भी कोरोना से बचाव को देखते हुए छठ पूजा के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। 

आपको छठ पूजा का व्रत करना है तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए। ऐसे में आपको नदी या तालाब के ​किनारे भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचना होगा। इसके लिए कुछ तैयारियां कर लेनी चाहिए।

छठ पूजा में सूर्य देव को अर्घ्य देना महत्वपूर्ण होता है। ऐसे में आप घर पर ही सूर्य देव को अर्घ्य देने की व्यवस्था कर लें। इसके लिए आपको बाजार में प्लास्टिक के उपलब्ध बाथटब का प्रयोग करना चाहिए।

पानी में खड़े होकर अर्घ्य देने के लिए आप घर पर ही कृत्रिम तालाब, बड़े परात या कपड़े धोने वाले टब का उपयोग कर सकते हैं।

आपने तालाब या नदी के किनारे छठी मैया को स्थाई तौर पर स्थापित किया है, तो इस बार वहां साफ-सफाई करा लें। फिर नियम पूर्वक वहां पर दीपक जला दें।

साफ मिट्टी से घर पर ही छठी मैया की प्रतिमूर्ति तैयार कर लें। उनकी विधि विधान से पूजा करें।

 छठ पूजा की सामग्री के लिए बड़े बाजारों में जाने से बचें। परिवार के किसी एक सदस्य को खरीदारी के लिए भेजें। उनको भी मास्क तथा सैनेटाइजर के साथ जाने को कहें।

 खरीदारी से वापस आने पर उनको स्नान कर कपड़े बदलने को कहें। फिर उनके कपड़ों को अलग साफ कर दें।

आपके पास पहले से नए वस्त्र हों, तो छठ पूजा में उनका ही उपयोग कर लें। बाजार जाने से परहेज करें।

सर्दी पड़ रही है, जो कोरोना संक्रमण के लिए उपयुक्त मानी जाती है। ऐसे में आप गर्म कपड़े अवश्य पहनें, इसमें लापरवाही न करें। सेहत से लापरवाही कोरोना संक्रमण को दावत देने वाला साबित हो सकता है। 

छठ पूजा के लिए इस बार घर पर ही स्नान करें। चाहें तो पानी में गंगाजल मिल लें।

loading...