World Hand Wash Day- काेराेना से है बचना ताे ज़रुरी है हाथ धाेना

कोरोना वायरस महामारी के बीच गुजरे 10 महीनों के दौरान यह सामने आया कि साबुन से हाथ धोना  और जन स्वास्थ्य सावधानी उपायों  जैसे सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना, खांसी आने के दौरान मुंह ढकना और मास्क पहनना आदि का उचित तरह से पालन करना वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए प्रभावी हथियार साबित हुए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने यह बात कही है।

WHO ने कहा कि रोगों से बचाव को लेकर जागरूक करने और हाथ धोने के महत्व को दर्शाने के मद्देनजर हर वर्ष 15 अक्टूबर को ‘विश्व हाथ धुलाई दिवस’ मनाया जाता है। इस वर्ष पूरे विश्व को यह याद दिलाने के लिए यह और भी अहम है कि हाथ धोने जैसी साधारण आदत जीवन बचा सकती है. साथ ही यह बेहद किफायती भी है।

WHO के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, ‘पहले के मुकाबले अब कोविड-19 काल में हाथों की स्वच्छता हमारी दिनचर्या और जीवन का आवश्यक हिस्सा होना चाहिए ताकि हम बीमारियों से बच सकें.’

WHO ने कहा कि कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर बचाव के अन्य उपायों का पालन करने के साथ ही थोड़े समय के अंतराल के बाद साबुन से हाथ धोना बेहद आवश्यक है.

loading...