Kids- 15 अक्टूबर से खुल रहे स्कूल, क्या पेरेंट्स भेजेंगे स्कूल?

केंद्र सरकार 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने की अनुमति दे चुका है और देश के कई हिस्सों में स्कूल भी खोल दिए गए हैं। हरियाणा में ट्रायल के तौर पर बहुत पहले ही स्कूल खोले गए थे। लक्षद्वीप में भी 11 हजार बच्चे स्कूल जाने लगे हैं और यूपी सरकार ने भी स्कूल खोलने की सशर्त अनुमति दे दी है लेकिन अभी भी पैरेंट्स वैक्सीन से पहले बच्चों को स्कूल भेजने के पक्ष में नहीं दिख रहे।

राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में फिलहाल 9वीं से 12वीं तक के स्कूल परामर्श के लिए खुल चुके हैं। इनमें सरकारी स्कूलों में 10 से 12% छात्र ही पहुंच रहे हैं वहीं, निजी स्कूलों की बात करें तो वहां पर छात्रों की संख्या इससे भी काफी कम है।

अनलॉक-5 दिशा-निर्देश के मुताबिक, केंद्र सरकार ने सभी कक्षाओं के लिए 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने की अनुमति दे दी है, हालांकि अभी प्राइमरी लेवल के बच्चों के स्कूलों को बंद ही रखा जाएगा। अभिभावकों का मानना है कि जिस तरह से रोजाना शहर के हर एरिया में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। ऐसे में बच्चों को स्कूल भेजना सही नहीं होगा।

सरकार की ओर से जारी एसओपी में शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए सीखने-सिखाने के तरीकों पर फोकस करने को कहा गया है। बच्चों को पूरे समय मास्क पहने रहना होगा। स्कूल में प्रवेश से पहले सभी की अनिवार्य तौर पर स्कैनिंग करनी होगी। स्कूल खोलने के 2-3 हफ्ते तक छात्रों का किसी भी तरह का कोई टेस्ट नहीं होगा। स्कूल में कक्षाओं के साथ-साथ ऑनलाइन कक्षाएं भी जारी रखनी होंगी। स्कूल खोलने के बाद किसी तरह के समारोह नहीं किए जाएंगे।

 

loading...