गांधी जयंती के दिन याद करें महात्मा ‘ बापू ‘ गांधी काे

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था, इसलिए इस दिन ही हर साल 2 अक्तूबर को गांधी जयंती मनाई जाती है। गांधी जी पुतलीबाई और करमचंद गांधी के तीन बेटों में सबसे छोटे बेटे थे।

मोहनदास एक औसत विद्यार्थी थे, हालांकि उन्होंने कई बार पुरस्कार और छात्रवृत्तियां भी हासिल की है। गांधी जी पढ़ाई और खेल दोनों में ही तेज नहीं थे। बीमार पिता की सेवा करना, घरेलू कामों में मां का हाथ बंटाना और समय मिलने पर दूर तक अकेले सैर पर निकलना उन्हें बेहद पसंद था। गांधी जी जब 13 साल के थे, और स्कूल में पढ़ते थे तभी उनकी शादी कस्तूरबा से हुई थी।

1887 में मोहनदास ने ‘बंबई यूनिवर्सिटी’ में मैट्रिक की परीक्षा पास की और भावनगर स्थित ‘सामलदास कॉलेज’ में दाखिला लिया। उन्होंने बैरिस्टर की पढ़ाई करने का मन बनाया और इंग्लैंड चले गएं। महात्मा गांधी का ये सफर इंग्लैंड तक नहीं थमा बल्कि उन्होंने कई देशों का भ्रमण किया।

मोहनदास करमचंद गांधी भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनीतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। राजनीतिक और सामाजिक प्रगति की प्राप्ति हेतु अपने अहिंसक विरोध के सिद्धांत के लिए उन्हें अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त हुई। विश्व पटल पर महात्मा गांधी सिर्फ एक नाम नहीं अपितु शान्ति और अहिंसा का प्रतीक हैं।

loading...