संयुक्त राष्ट्र की 75वीं बरसी पर PM Modi ने व्यापक सुधारों पर दिया बल

Web Journalism course

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र की 75वीं बरसी पर सोमवार देर रात UNGA की एक उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा, संयुक्त राष्ट्र में सुधार की आवश्यकता है। व्यापक सुधारों के बिना संयुक्त राष्ट्र पर विश्वास का संकट है।

File Photo

संयुक्त राष्ट्र महासभा में पीएम मोदी ने कहा, ‘आज दूरंदेशी घोषणाओं को स्वीकार किया जा रहा है लेकिन संघर्ष को रोकने, जयवायु परिवर्तन, विकास को सुनिश्चित करने, असमानता घटाने और डिजिटल का लाभ उठाने जैसे मुद्दों पर अभी और काम करने की आवश्यकता है। हम पुरानी संरचनाओं के साथ आज भी चुनौतियों से लड़ नहीं सकते हैं. व्यापक सुधारों के बिना संयुक्त राष्ट्र पर विश्वास का संकट है।’

संयुक्त राष्ट्र में सुधार की आवश्यकता को स्वीकार करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “आज की परस्पर दुनिया के लिए, हमें एक सुधारित बहुपक्षवाद की आवश्यकता है जो आज की वास्तविकताओं को दर्शाता है, सभी हितधारकों को आवाज देता है, समकालीन चुनौतियों का समाधान करता है और मानव कल्याण पर ध्यान केंद्रित करता है।”

पीएम ने कहा कि भारत इस दिशा में अन्य सभी देशों के साथ काम करने के लिए तत्पर है। भारत ने सुरक्षा परिषद में सुधार के लिए दशकों से चल रहे प्रयासों का हवाला देते हुए कहा है कि 1945 में स्थापित संयुक्त राष्ट्र 21वीं सदी की समकालीन वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करता है और वर्तमान चुनौतियों से निपटने के लिए बीमार है।

loading...