मिनरल मेकअप नॉर्मल मेकअप से होता है अलग, जानें इसके फायदे…..

Web Journalism course

मेकअप आपकी खूबसूरती उभारने का काम करता है, लेकिन इससे स्किन से भी जुड़ी कई परेशानी हो सकती है, जैसे अगर आप सोने से पहले इसे नहीं हटातीं, तो स्किन पोर्स बंद हो जाएंगे और पिंपल्स की भी परेशानी हो सकती है। इतना ही नहीं, कई बार इनसे चेहरे पर एलर्जी और रैशेज़ भी हो जाते हैं। लेकिन अगर आप नॉर्मल मेकअप की जगह मिनरल मेकप का इस्तेमाल करती हैं, तो इसकी संभावना काफी हद तक कम हो जाती है। तो जानना नहीं चाहेंगी आखिर क्या होता है मिनरल मेकप और किस तरह से ये है फायदेमंद।

क्या होता है मिनरल मेकप

ये ऐसा मेकअप है जिसमें किसी भी तरह के प्रीजर्वेटिव्स, केमिकल डाई, फ्रेग्नेंस और मिनरल ऑयल जैसी नुकसानदायक चीज़ें मौजूद नहीं होती। मिनरल मेकअप में इन इंग्रीडिएंट्स के ना होने से आपकी स्किन खुलकर सांस लेती है और रैशेज़ या एलर्जी की परेशानी नहीं होती है।

कौन-कौन से इंग्रीडिएंट्स होते हैं शामिल

मिनरल मेकअप में आयरन ऑक्साइड, ज़िंक ऑक्साइड, माइका पाउडडर, टाइटेनियम ऑक्साइड और ऑर्गेनिक ऑयल होते हैं। ये आपकी स्किन को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाते हैं और आपको नैचुरल लुक देता है।

क्या हैं फायदे

जैसा कि इसमें टाइटेनियम और ज़िंक ऑक्साइड होते हैं, जो किसी भी सनस्क्रीन में एक ज़रूरी इंग्रीडिएंट्स की तरह शामिल होते हैं और स्किन को धूप की हानिकारक किरणों से बचाते हैं। इनकी वजह से ही मिनरल मेकअप ना सिर्फ आपको खूबसूरत बनाता है, बल्कि सनस्क्रीन की भी तरह काम करता है। इसलिए मेकअप करते वक्त आपको अलग से सनस्क्रीन लगाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

और अन्य फायदे

ज़िंक ऑक्साइड में एंटी-इंफ्लेमेंटरी प्रोपर्टी होती है। ये एक्ने की परेशानी कम करता है। ऐसे मेकअप स्किन पर काफी लाइट होते हैं और इसलिए ये पोर्स बंद नहीं करते हैं और इससे आपको पिंपल्स या ब्लकहेड्स की भी परेशानी नहीं होती है। तो आप मिनरल मेकअप को आसानी से किसी भी पार्टी, ऑफिस इवेंट या शादी-ब्याह में कर सकती हैं अप्लाई।

loading...