स्वास्थ्य मंत्रालय- भारत में एक से अधिक काेराेना वैक्सीन का ट्रायल हाे रहा

Web Journalism course

दुनियाभर में कोरोना महामारी से निजात दिलाने के लिए वैक्सीन के आविष्कार का इंतज़ार है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की 24 जुलाई की रिपोर्ट के मुताबिक़ दुनियाभर में तीन वैक्सीन ऐसी हैं जिनका ट्रायल अपने आख़िरी चरण में पहुंच चुका है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार भारत में दो वैक्सीन ऐसे हैं जो क्लिनिकल ट्रायल के पहले और दूसरे चरण में पहुंच चुके हैं। एक वैक्सीन का 1150 लोगों पर ट्रायल किया जा रहा है। ये ट्रायल देशभर के 8 अस्पतालों और संस्थानों में हो रहा है। दूसरे वैक्सीन का परीक्षण देश के 5 अस्पतालों और संस्थानों में किया जा रहा है और इसके लिए कुल 1000 लोगों का चयन किया गया है।

24 ऐसी कम्पनियां हैं जो वैक्सीन ट्रायल के क्लिनिकल स्टेज पर हैं। क्लिनिकल स्टेज का मतलब होता है कि अब इन दवाइयों का परीक्षण इंसानों पर शुरू हो चुका है। इनमें ज़्यादातर वैक्सीन का परीक्षण दूसरे चरण में है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनियाभर में 141 कम्पनियां ऐसी हैं जो क्लिनिकल ट्रायल के मुहाने पर खड़ी हैं। इन कम्पनियों में वैक्सीन को लेकर रिसर्च और जानवरों पर अध्ययन किया जा रहा है। इस चरण के बाद ही क्लिनिकल ट्रायल का चरण शुरू होता है।

loading...