सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यम (MSME) का ऑनलाइन पंजीकरण शुरू

Web Journalism course

सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यमों के लिए नये पंजीकरण की प्रक्रिया आज उद्यम नाम से शुरू हो रही है। यह प्रक्रिया पूरी तरह ऑनलाइन, कागज रहित और स्व घोषणा पर आधारित है। पंजीकरण के लिए कोई दस्‍तावेज़ या प्रमाणपत्र अपलोड करने की आवश्‍यकता नहीं है।  पंजीकरण के लिए आधार नम्‍बर आवश्‍यक होगा। उद्यम पंजीकरण के लिए नया पोर्टल www.udyamregistration.gov.in है।

मंत्रालय ने कहा कि पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद उद्यम पंजीकरण प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा। पंजीकरण का नवीनीकरण कराने की कोई आवश्‍यकता नहीं होगी। पंजीकरण प्रकिया नि:शुल्‍क है। मंत्रालय ने विश्‍वास व्‍यक्‍त किया है कि यह प्रक्रिया व्‍यापार सुगमता की दृष्टि से न केवल भारत में बल्कि अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर एक मिसाल कायम करेगी।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 1 जुलाई से अनलॉक पंजीकरण करा कर सूक्ष्म, लघु और मझोले उद्यम (एमएसएमई) शुरू कर सकेंगे। ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया में किसी भी प्रकार का दस्तावेज नहीं मांगा जाएगा, हालांकि उद्यमी के पास आधार नंबर होना अनिवार्य है, जिससे उद्यमी को उद्योग आधार मेमोरेंडम (यूएएम) जारी किया जा सके। एमएसएमई मंत्रालय इस बारे में उद्यम पंजीकरण संबंधी अधिसूचना पहले ही जारी कर चुका है ।

इसके अनुसार कोई भी व्यक्ति जो कि सीक्ष्म,लघु अथवा मध्यम उद्योग स्थापित करना चाहता है, उसे बस मंत्रालय के उद्यम पंजीकरण पोर्टल पर ऑनलाइन उद्यम पंजीकरण करा सकता है। पंजीकरण की प्रक्रिया पूरी तरह से स्वघोषित स्वप्रमाणित होगी, किसी प्रकार का कोई दस्तावेज अपलोड करने की आवश्यकता नहीं है, इसका कोई शुल्क भी नहीं देना होगा। उसे पोर्टल पर फॉर्म को भरना होगा और अपना आधार नंबर दर्ज कराना अनिवार्य होगा, इसके बाद उद्यमी को स्थाई रूप से एक उद्यम पंजीकरण नंबर दिया जाएगा।

ई- प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा

पंजीकरण प्रक्रिया पूरी होने के बाद उद्यम पंजीकरण का ई- प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। उद्यम पंजीकरण मिलने पर इंटरप्राइजेज पिछले साल का जीएसटी रिटर्न व आईटीआर की विस्तृत जानकारी ऑनलाइन पोर्टल पर डालेगा।इस आधार पर इंटरप्राइजेज की श्रेणी का वर्गीकरण (सूक्ष्म, लघु, मध्यम) स्वतः हो जाएगा। यदि किसी इंटरप्राइजेज की तरफ से मशीनरी में नए प्रवीण निवेश या उसके टर्न ओवर में बढ़ोतरी से उसकी श्रेणी बदल रही है, तो भी उस साल उन्हें अपनी पुरानी श्रेणी में रहना होगा अगले साल उसकी श्रेणी बदलेगी।

 

loading...