भारत और ओमान के बीच आठ समझौतों पर हस्‍ताक्षर, पीएम ने कहा- दोनों देशों के बीच हजारों वर्ष पुराने संबंध

Web Journalism course

 

मस्कट। भारत और ओमान ने विभिन्‍न क्षेत्रों में आठ समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए हैं। इनमें रक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और पर्यटन क्षेत्र के समझौते शामिल हैं। नागरिक और वाणिज्यिक मुद्दों में कानूनी और न्‍यायिक सहयोग के बारे में भी समझौता हुआ है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की ओमान के सुल्‍तान क़बूस बिन सैद अल सैद के साथ मस्‍कट में प्रतिनिधि मंडल स्‍तर की वार्ता के बाद इन समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए। विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने एक ट्वीट संदेश में बताया कि श्री मोदी और ओमान के सुल्‍तान के बीच व्‍यापार और निवेश, ऊर्जा, रक्षा, खाद्य सुरक्षा और क्षेत्रीय मामलों में सहयोग बढ़ाने के उपायों पर व्‍यापक बातचीत हुई।

इससे पहले मस्‍कट पहुंचने के बाद श्री मोदी सुल्‍तान कबूस खेलकूद परिसर में सामुदायिक आयोजन में शामिल हुए। भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए श्री मोदी ने कहा कि भारत और ओमान के बीच हजारों वर्ष पुराने संबंध है।

मस्‍कट में भारतीयों की उपस्थिति पर गर्व व्‍यक्‍त करते हुए प्रधानमंत्री ने इसे मिनी इंडिया की संज्ञा दी। ओमान में रह रहे भारतीयों को प्रधानमंत्री ने भारत का सद्भावना दूत बताया। उन्‍होंने भारत और ओमान के ऐतिहासिक रिश्‍तों की सराहना की और कहा कि यहां रह रहे भारतीयों का इस देश के निर्माण में एक अहम योगदान है।

श्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने गरीबों के हित के लिए कई कदम उठाये हैं। एक वर्ष में हमारे देश के अलग-अलग कंपनियों ने 900 हवाई जहाज खरीदने का ऑर्डर दिया है, क्‍योंकि हमारी नीति में हमने कहा है, हवाई चप्‍पल पहनने वाला भी हवाई जहाज में सफर करे।

उन्‍होंने कहा कि हर भारतीय नागरिक नये भारत के संकल्‍प को पूरा करने की ओर काम कर रहा है