हैप्पी बर्थडे: जानें दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज स्टीव स्मिथ के बारे में कुछ खास बातें…

Web Journalism course

पूर्व आस्ट्रेलियाई कप्तान और दिग्गज क्रिकेटर 2 जून यानी आज अपना 31वां जन्मदिन मना रहे हैं. स्मिथ दुनिया के उन चुनिंदा दिग्गजों में शुमार है, जो क्रिकेट में गेंदबाज के तौर पर शुरुआत करने के बाद अपनी बल्लेबाजी के लिए पूरी दुनिया में पहचाने गए. शायद आपको मालूम न हो लेकिन स्मिथ ने भी अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत एक गेंदबाज के तौर पर की थी और ऑस्ट्रेलियाई टीम में भी उनका पहली बार चयन एक लेग स्पिनर के तौर पर ही किया गया था. लेकिन उन्होंने बल्ले से ऐसा जलवा दिखाया कि आज शायद खुद उनकी टीम में भी किसी काे याद नहीं होगा कि स्मिथ गेंदबाजी भी करते हैं.

ऑलटाइम बेस्ट रैंकिंग में है दूसरा नंबर

स्मिथ की महानता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुनिया की ऑलटाइम बेस्ट बल्लेबाजी रैंकिंग में उनका दूसरा स्थान है. उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 2017 में 947 रेटिंग अंक हासिल करते हुए ये रिकॉर्ड अपने नाम किया था. स्मिथ से आगे इस सूची में केवल महान डॉन ब्रैडमैन का ही नाम है, जिन्होंने 1948 में टीम इंडिया के खिलाफ 961 रेटिंग अंक हासिल किए थे. स्मिथ के समकालीन और उनके सबसे बड़े कॉम्पिटीटर विराट कोहली भी अपने करियर में 937 रेटिंग अंक हासिल कर चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद भारतीय क्रिकेट कप्तान का ऑलटाइम रैंकिंग में 11वां स्थान है.

टेस्ट के हैं ऐसे दिग्गज विकेट लेने को तरस जाता है गेंदबाज

73 टेस्ट मैच में 26 शतक और 29 फिफ्टी बना चुके स्मिथ इस तरह खेलते हैं कि कोई गेंदबाज उन्हें आउट करना तो दूर बीट करने तक में जूझ जाता है. उन्हें बल्लेबाजी करते हुए देखकर लगता है कि जब उनका मन करता है, वो तभी गेंदबाज को आउट करने का मौका देते हैं. उनका खेल के इस लंबे संस्करण में 62.84 का औसत भी उनकी प्रतिभा का गुणगान करता है, लेकिन वनडे में भी स्मिथ का जलवा कम नहीं है. स्मिथ ने अभी तक महज 125 वनडे मैच ही खेले हैं, लेकिन उनका औसत 42.46 का और स्ट्राइक रेट 86.67 का है. वनडे में 9 शतक बनाने वाले स्मिथ ने 2015 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में 93 गेंद में 105 रन और फाइनल में नॉट आउट 56 रन बनाकर टीम को खिताब जिताया था. टी-20 क्रिकेट स्मिथ को बहुत ज्यादा पसंद नहीं है लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में उनकी कई जबरदस्त पारियां खेलप्रेमियों को याद रहीं हैं. इसी कारण आईपीएल (IPL) में राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) ने स्मिथ को टीम की कप्तानी भी सौंपी है.

सीरीज के हर टेस्ट में शतक का रिकॉर्ड बनाने वाले दूसरे क्रिकेटर
भारतीय टीम का 2014-15 का ऑस्ट्रेलियाई दौरा तीन खास बातों के लिए याद रखा जाएगा. पहला महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) का सीरीज के बीच में ही टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेना, दूसरा विराट कोहली का कप्तानी करियर चालू होना और तीसरा विराट के सबसे बड़े कॉम्पिटिटर स्टीव स्मिथ का भी अपना कप्तानी करियर इसी सीरीज से शुरू करना. स्मिथ ने माइकल क्लार्क (Michael Clarke) के चोट लगने पर कप्तानी करते हुए सीरीज के चारों टेस्ट मैच में शतक बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था. चार या उससे ज्यादा टेस्ट मैच की सीरीज के हर मैच में शतक बनाने वाले दुनिया के महज दूसरे बल्लेबाज हैं. उनसे पहले दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज बल्लेबाज जैक्स कैलिस (Jacques Kallis) ही ये कारनामा कर पाए थे.

विवादों से रहा है नजदीकी नाता
स्टीव स्मिथ का दो साल पहले भारतीय दौरे के दौरान बंगलूरू टेस्ट का विवाद तो शायद ही कोई क्रिकेट प्रेमी भूला होगा, जब उन्होंने पवेलियन की मदद से डीआरएस मांगने का फैसला किया था. इसके अलावा इशांत शर्मा के साथ उनका विवाद भी कोई नहीं भूल सकता. दरअसल स्मिथ और विवादों का करीबी नाता रहा है. उन्हें ऑस्ट्रेलियाई टीम के बॉल टेंपरिंग में शामिल पाए जाने के लिए उप कप्तान डेविड वार्नर के साथ क्रिकेट से एक साल के लिए प्रतिबंधित भी किया जा चुका है. इसी कारण उन्हें ऑस्ट्रेलियाई टीम की कप्तानी भी गंवानी पड़ी थी.

loading...