विश्व तम्बाकू निषेध दिवस 2020

Web Journalism course

हर साल 31 मई को नो टोबैको डे यानि विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) मनाया जाता है।

इसका मुख्य उद्देश्य लोगों को तंबाकू से होने वाले स्वस्थ्य नुकसान के विषय में सचेत करना है।

इन दिन को मनाने के लिए वर्ल्ड नो टोबैको डे की थीम भी रखी जाती है। इस साल की थीम युवाओं पर रखी गई है। विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाने का एक बड़ा उद्देश्य है। इस दिन तंबाकू या इसके उत्पादों के उपभोग पर रोक लगाने या इस्तेमाल को कम करने के लिए लोगों को जागरुक किया जाता है ताकि धूम्रापान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक जैसी लाइनें सिर्फ सुनने या पढ़ने तक ही सीमित न रह जाएं।

बता दें कि मुख के कैंसर के मरीजों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है। इसके लिए लोग खुद जिम्मेदार हैं। मुख कैंसर के 90 फीसद मरीजों में तंबाकू सेवन की हिस्ट्री मिली है। जो लोग घर में धूम्रपान करते हैं उनके बच्चे ना चाहते हुए भी धूम्रपान के शिकार हो जाते हैं। पैसिव स्मोकिंग या सेकेंड हैंड स्मोकिंग भी उतना ही नुकसानदायक है, जितना नुकसान धूम्रपान करने वाले को होती है।

एक शोध के मुताबिक पांच मरीजों की मौत में एक मौत तंबाकू जनित रोग से होती है। इसके सेवन से मुख के कैंसर के अलावा फेफड़ों का कैंसर, पाचन नली का कैंसर, गर्भाशय, गुर्दा व मूत्राशय में रोग का भी खतरा बढ़ जाता है। यदि इस पर प्रतिबंध लगाया जाए तो मुख व गले में होने वाले 80 से 90 फीसद कैंसर की रोकथाम की जा सकती है।

 

 

 

loading...