समाज सुधारक राजा राम मोहन राय की जयंती आज

ऐसे कम ही लोग हुए हैं जिन्होंने देश को आधुनिक बनाने के साथ-साथ महिलाओं के अधिकारों की भी बात की हो, इस दिशा में सबसे अधिक काम राजा राम मोहन राय ने किया था। 

उनको आधुनिक भारत की नींव रखने वाले समाज सुधारक और भारतीय पुनर्जागरण के पिता कहलाने वाले के लिए भी जाना जाता है। आज उनकी जयंती है।

लगभग 200 साल पहले, जब “सती प्रथा” जैसी बुराइयों ने समाज को जकड़ रखा था, राजा राम मोहन रॉय जैसे सामाजिक सुधारकों ने समाज में बदलाव लाने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने “सती प्रथा” का विरोध किया। 

उन्होंने महिलाओं के लिए पुरूषों के समान अधिकारों के लिए प्रचार किया जिसमें उन्होंने पुनर्विवाह का अधिकार और संपत्ति रखने का अधिकार की भी वकालत की। 1828 में, राजा राम मोहन रॉय ने “ब्रह्म समाज” की स्थापना की, जिसे भारतीय सामाजिक-धार्मिक सुधार आंदोलनों में से एक माना जाता है।

loading...