World Hypertension Day: जानें क्यों बढ़ता है ब्लड प्रेशर, ये हैं बचाव के तरीके

Web Journalism course

हाइपरटेंशन जैसा कि नाम से जाहिर होता है कि इंसान तनाव से भरा हुआ होता है. इंसान तब इतना तनाव में होता है जब वह किसी चीज के बारे में अधिक सोचता है और वह स्ट्रेस का शिकार हो जाता है. इसके बाद हाइपरटेंशन की चपेट में आ जाता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुमानों के अनुसार दुनिया भर में 1.13 बिलियन लोग हाई ब्लड प्रेशर से ग्रसित हैं. यह लोगों की अकाल मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक है. ऐसी स्थिति में इंसान का ब्लड प्रेशर का लेवल 120/80 mm Hg के बैरियर को पार कर जाता है. यदि समय रहते इस पर कंट्रोल नहीं किया जाता है तो यह खतरनाक बीमारियों का कारण भी बन सकती है. इसलिए इसके बारे में व्यापक स्तर पर जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 17 मई को विश्व हाइपरटेंशन दिवस मनाया जाता है. तो आइए जानते हैं हाई ब्लड प्रेशर बढ़ने के कारण के बारे में…

अकेलापन
कई अध्ययनों में माना गया है कि स्ट्रांग सपोर्ट सिस्टम कई घातक बीमारियों के खतरे को कम करता है.  यह केवल इतना ही नहीं है कि आपका सामाजिक दायरा कितना बड़ा या छोटा है – यह उस संपर्क के बारे में है जो आप अपने आसपास के लोगों के साथ महसूस करते हैं. कुछ अनुमानों के अनुसार अकेले लोगों का डायस्टोलिक प्रेशर 4 साल की अवधि में 14 अंक बढ़ सकता है. इसके बाद असुरक्षा, रिजेक्शन और निराशा का लगातार डर आपके शरीर के कार्यों में कई तरह के बदलाव कर सकता है.

डिहाइड्रेशन
जब इंसान की कोशिकाएँ सूख जाती हैं या पर्याप्त पानी नहीं होता है तो रक्त वाहिकाएँ कड़ी हो जाती है. यदि कोशिकाओं का पानी लेवल कम हो जाता है, तो आपके मस्तिष्क आपके पिट्यूटरी ग्रंथि को एक रसायन के स्राव के लिए एक संकेत भेजता है जो आपके रक्त वाहिकाओं को सिकोड़ता है. इसके अलावा आपके किडनी भी आपके पास पहले से मौजूद तरल पदार्थ को बनाए रखने के लिए ऐसी परिस्थितियों में पर्याप्त मूत्र का उत्पादन नहीं करते हैं. यह आपके दिल और मस्तिष्क में छोटी रक्त वाहिकाओं को भी निचोड़ता है.

खाने में अत्यधिक चीनी
खाने में चीनी की अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से आपका ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है. वास्तव में यह नमक की तुलना में अधिक हानिकारक हो सकता है. विशेष रूप से संसाधित चीनी (उदाहरण के लिए उच्च फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप) के बारे में सावधान रहें. यदि आपके आहार में अतिरिक्त शर्करा शामिल है, तो सिस्टोलिक (शीर्ष संख्या) और डायस्टोलिक (निचला नंबर) दोनों प्रेशरों में वृद्धि हो सकती है.

दर्द
अचानक या तीव्र दर्द आपके तंत्रिका तंत्र पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है. बदले में यह आपके ब्लड प्रेशर के लेवल को बढ़ा सकता है. आप इसे अनुभव कर सकते हैं यदि आप एक हाथ को बर्फ के पानी में डुबाते हैं या अपने गाल या हाथ के अंगुलियों के नाखून को दबाते हैं तो आपकी उंगली को बिजली के झटके के समान प्रभाव पड़ेगा.