सीएम योगी ने दिए अधिकारियों को सख्त आदेश, हर गरीब तक पहुँचाओ खाना

Web Journalism course

कोरोना के कारण पूरा देश लॉकडाउन है। प्रत्येक प्रदेश अपने-अपने तरीके से कोरोना और लॉकडाउन की तैयारियां कर रहा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ भी लगातार अधिकारियों के साथ मीटिंग करके इससे निपटने की तैयारियों की समीक्षा कर रहे हैं। प्रति दिन सीएम योगी मीटिंग हो रही है। रविवार को भी सीएम योगी ने अधिकारियों के साथ मीटिंग की। योगी ने अधिकारियों को मीटिंग में महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी के मुख्य निर्देश :-

उद्यम और संस्थान जो लॉकडाउन के कारण बंद हैं उन संस्थानों को उनके प्रत्येक कर्मचारी को वेतन देना ही होगा। कर्मचारियों को तनख्वाह दिलवाने की जिम्मेदारी अधिकारियों की होगी।

प्रत्येक गरीब, दिहाड़ी मज़दूर को सरकार एक 1000 रुपये देगी, भले ही वह मजदूर राज्य के किसी भी कोने में हो। अधिकारियों की जिम्मेदारी है कि उन मजदूरों का पता लगाकर उन तक मदद पहुंचाएं।

पूरे राज्य में अल्प वेतन भोगी, श्रमिकों या गरीबों से मकान मालिक किराया ना वसूलें। सीएम योगी ने कहा कि उनकी यह अपील मानवता के नाते है।

राज्य में किसी की व्यक्ति का बिजली, पानी का कनेक्शन बकाए के चलते नहीं काटा जाएगा, बराबर आपूर्ति बनी रहेगी।

उत्तर प्रदेश में जो भी आ गए हैं, या पहले से निवास कर रहे हैं, उनकी पूरी जिम्मेदारी सरकार की है। योगी ने कहा कि ऐसे लोगों को भोजन, शुद्ध पानी, दवा मुहैया करवाएंगे और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि बाकी लोगों के स्वास्थ्य का कोई खतरा उत्पन्न न हो।