PM Modi ने मन की बात कार्यक्रम में कहा- भारत कोविड-19 से लड़ाई जरूर जीतेगा

Web Journalism course

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि परस्‍पर सुरक्षित दूरी बनाये रखना ही कोविड-19 से मुकाबले का सबसे कारगर तरीका है। आकाशवाणी से आज मन की बात कार्यक्रम में अपने विचार साझा करते हुए श्री मोदी ने कहा कि हर किसी को अपनी और अपने परिवार की रक्षा करनी होगी। उन्‍होंने कहा कि प्रत्‍येक भारतीय का संकल्‍प और नियम का पालन इस संकट से निपटने में सहायक होगा।

लॉकडाउन एकमात्र विकल्प

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत जैसे 130 करोड़ की आबादी वाले देश के पास कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए पूर्णबंदी के अलावा और कोई रास्‍ता नहीं था। श्री मोदी ने कहा कि दुनिया भर में आज जो कुछ भी घट रहा है, उसमें यही एकमात्र विकल्‍प बचा था। उन्‍होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी ही होगी। प्रधानमंत्री ने लोगों को हो रही कठिनाइयों के लिए क्षमायाचना भी की।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्णबंदी के दौरान नियम तोड़ने वाले अपने जीवन से खेल रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि लॉकडाउन का नियम तोड़ेंगे तो कोरोना वायरस से बचना मुश्किल हो जायेगा।

श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई अभूतपूर्व और चुनौतीपूर्ण है। इसलिए, हमें ऐसे कदम उठाने पड़ रहे हैं, जिनके बारे में विश्‍व इतिहास में पहले कभी नहीं सुना गया।

पीएम ने एक श्‍लोक के माध्यम से समझायी अपनी बात

श्री मोदी ने कहा कि हमें गरीबों के प्रति अपनी संवेदनशीलता को बढ़ाना होगा। संकट की इस घड़ी में जब भी कोई गरीब या भूखा व्‍यक्ति दिखे, तो सबसे पहले उसे खाना खिलाने का प्रयास करना चाहिए। श्री मोदी ने एक श्‍लोक की चर्चा करते हुए कहा कि एवं एव विकार: अपि तरूण: साध्‍यते सुखम्, यानी बीमारी और उसके प्रकोप से शुरू में ही निपटना चाहिए।बाद में रोग असाध्‍य हो जाते हैं। तब इलाज भी मुश्किल हो जाता है और आज पूरा हिन्‍दुस्‍तान, हर हिन्‍दुस्‍तानी यही कर रहा है।

सबके लिए चुनौती बना कोरोना

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले लिया है और यह ज्ञान, विज्ञान, अमीर और गरीब, मजबूत और लाचार-सब के लिए एक चुनौती के रूप में सामने आया है। उन्‍होंने कहा कि यह वायरस न तो किसी राष्‍ट्र की सीमा में बंधा है और न ही यह कोई क्षेत्र या कोई मौसम देखता है।

श्री मोदी ने कहा कि देशवासी इस बात को समझेंगे कि सरकार को ऐसे निर्णय क्‍यों लेने पड़े जिनसे लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। श्री मोदी ने खासतौर से वंचित समुदाय के लोगों का जिक्र करते हुए कहा कि वे उनकी पीड़ा को समझ सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि ऐसे अनेक योद्धा हैं जो घरों में नहीं, बल्कि घरों के बाहर रहकर कोरोना वायरस का मुकाबला कर रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि अग्रिम मोर्चे पर डटे हमारे ये सैनिक हैं – हमारी नर्स बहनें, डाक्‍टर और पैरा-मेडिकल स्‍टॉफ। उन्‍होंने कहा कि ये वे लोग हैं जो कोरोना को पराजित कर चुके हैं। आज हमें उनसे प्रेरणा लेनी है।

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 के विरूद्ध संघर्ष में डटे कुछ लोगों से फोन पर हुई बातचीत को साझा करते हुए कहा कि ऐसे लोगों के साथ बातचीत ने उनका उत्‍साह बढ़ाया है और उनसे बात करके स्‍वयं मेरा उत्‍साह भी बढ़ा है।

पीएम ने कोरोना से ठीक हो चुके व्यक्तियों से की बात

सबसे पहले उन्‍होंने सूचना प्रौद्योगिकी पेशेवर रामगम्‍पा तेजा से बात की, जो कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्‍त हो चुके हैं।

श्री मोदी ने आगरा के अशोक कपूर से भी बात की। कोरोना से ठीक हो चुके व्यक्ति ने अस्पताल में अपने दिनों को उनसे साझा कियाऔर बताया कि उन्हें अस्पताल में सभी का भरपूर सहयोग मिला।

पीएम ने डाक्‍टरों से की बात

देश इस महामारी से चिकित्‍सा के स्‍तर पर इस प्रकार निपट रहा है, इसे समझने के लिए श्री मोदी ने कोरोना वायरस से मुकाबला कर रहे कुछेक डाक्‍टरों से भी बात की। दिल्‍ली के डॉक्‍टर नीतेश गुप्‍ता ने इलाज के लिए अस्‍पताल को सरकार से मिल रही सहायता के लिए श्री मोदी को धन्‍यवाद दिया।

पुणे के डॉक्‍टर बोरसे ने कोरोना संक्रमण से उबर रहे रोगियों के साथ अपने अनुभव साझा किए।

प्रधानमंत्री ने इस बात पर दुख व्‍यक्‍त किया कि कोरोना वायरस के संदिग्‍ध लोगों या घर में विशेष निगरानी में रखे जा रहे लोगों के प्रति लोग बुरा बर्ताव कर रहे हैं।

समाजिक दूरी है जरूरी

प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस से लड़ने का सबसे कारगर तरीका परस्‍पर सुरक्षित दूरी बनाये रखना ही है। लेकिन हमें यह समझना होगा कि सुरक्षित दूरी का मतलब सामाजिक संपर्क खत्‍म करना नहीं है। श्री मोदी ने कहा कि आने वाले समय में यही हिन्‍दुस्‍तानी अपने देश के विकास के लिए सारी दीवारों को तोड़कर आगे निकलेगा।

आज हर भारतीय अपने जीवन की रक्षा के लिए घर में बंद है। लेकिन आने वाले समय में यही हिन्‍दुस्‍तानी अपने देश के विकास के लिए सारी दीवारों को तोड़कर आगे निकलेगा, देश को आगे ले जायेगा। आप अपने परिवार के साथ घर पर रहिए, सुरक्षित और सावधान रहिए, हमें ये जंग जीतना है जरूर जीतेंगे।