जानलेवा हो सकता हैं हैंड सैनिटाइजर का ज्यादा इस्तेमाल, जरुर पढ़े ये ताजा रिपोर्ट…

Web Journalism course

कोरोना वायरस से बचने लिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन से लेकर सरकारें हाथ साफ रखने की सलाह दे रही हैं। ये वायरस हाथ के जरिए फैलता है, इसलिए बार-बार हाथ धोने या उसे सैनेटाइज करने के लिए कहा जा रहा है। इस कारण हाथ नहीं धो पाने पर लोग बार-बार सैनेटाइजर का इस्तेमाल कर रहे हैं लेकिन सैनेटाइजर के ज्यादा इस्तेमाल की वजह से हाथों में इसका दुष्प्रभाव देखने को मिल रहा है।

हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल:

कोरोनावायरस से बचाव के लिए साबुन और पानी से हाथ धोना काफी है। यहां तक कि साबुन हैंड सैनिटाइजर से ज्यादा प्रभावी हो सकते हैं।

पीएच बैलेंस वाले साबुन का करें इस्तेमाल हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है की हाथ धोने के लिए मॉस्चुराइजर बेस्ड हैंड सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।

ज्यादा सही तरीका है कि ठीक पीएच बैलेंस वाले साबुन से हाथ धोएं। ये इंफेक्शन से बचने का बेहतर तरीका है जो बार-बार हाथ नहीं धो पाते, वो सैनेटाइजर का इस्तेमाल करें।

ये वायरस काफी स्टिकी होता है और हो सकता है कि सिर्फ पानी से न निकले। साबुन इसे हाथ से छुड़ाने का काम करता है। इसके लिए आपको कम से कम 20 सेकेंड तक अपने हाथ धोने की जरूरत होती है।

आप वही सैनिटाइजर इस्तेमाल करें, जिसमें कम से कम 60% एल्कोहल हो, फिर हाथों को 20 सेकेंड तक रब करें।