जानें रिलेशनशिप में लड़कियां क्यों करती हैं लड़को से ज्यादा बहस

Web Journalism course

किसी भी रिलेशन में इस रिश्ते को निभाने में लकड़ियों की भूमिका अहम होती है। लेकिन गर्लफ्रेंड की मौजूदगी में शालीन होना स्‍वाभाविक है, लेकिन कई बार परिस्थिति ऐसी भी आ जाती है कि उस मुद्दे पर बहस होना लाजमी होता है, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कुछ परिस्थितियों में आपके ऊपर गर्लफ्रेंड हावी हो जाती है।

क्यों बहस करती है लड़कियां:

रिलेशनशिप में एक ऐसा समय आता है जब बॉयफ्रेंड की गलतियों की लिस्ट गर्लफ्रेंड गिनाना शुरू कर देती हैं। उस समय तो शायद ही कभी आप अपनी गर्लफ्रैंड से जीत पाएं।

जब बात इमोशनल होने की आती है तो लड़कियों के इमोशन्स के आगे भगवान भी हथियार डाल देते हैं, फिर आप तो इंसान ही हो। क्योंकि लड़कियों से अच्छा इमोशनल ब्लैकमेलर और कोई नहीं होता।

झगड़ा करना महिलाओं का पसंदीदा काम है खासकर ब्वॉयफ्रेंड के साथ झगड़ा करने के लिए तो लड़कियां हमेशा मौके खोजते रहती हैं।

ये हर किसी को मालुम है कि लड़कियों का सबसे बड़ा हथियार उसके आंसू होते हैं। लड़कियों के आंसू के आगे परमाणु बम भी फेल है। जब लड़कियों को लगता है कि उनके हाथ से बहस निकल रही है और चीजें खराब हो रही हैं तो सबसे अंत में वो अपना सबसे बड़ा हथियार इस्तेमाल करती हैं।

कई बार ऐसा होता है कि आप कुछ गलतियां करते हैं और वो आपसे कहने के बजाय आपके दोस्तों से इस चीज की शिकायत करने लगती है।