CBSE EXAM: अब पेपर रीडिंग के लिए अब छात्रों मिलेगा 15 मिनट का वक्त

Web Journalism course

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद् की बोर्ड परीक्षाओं में इस बार छात्रों को रोल नंबर भरने में खासी परेशानी आ सकती है । सीबीएसई ने बोर्ड परीक्षा में छात्रों की एंट्री कराने के लिए 7 खानों की ओएमआर शीट प्रिंट कराई, हालाँकि छात्रों को 8 अंक का रोल नंबर आवंटित किया गया है। 8 अंकों के रोल नंबर को 7 खानों वाली ओएमआर शीट में भरना हो सकता है। इसके लिए छात्रों को ओएमआर शीट पर अलग से एक बक्सा बनाकर रोल नंबर भरना होगा। जिससे ओएमआर प्रिंट हो चुकी हैं और रोल नंबर भी जारी हो चुके हैं इसलिए बोर्ड द्वारा इसमें तब्दीली नहीं हो सकती है । बोर्ड ने इसका हल निकालते हुए कहा है कि छात्र स्वयं ओएमआर में एक खाना बनाए और पूरा रोलनंबर भरें। इसके बोर्ड द्वारा प्रिंसिपलों को ट्रेनिंग भी दी जा रही है। सोमवार को मेरठ केएल स्कूल में भी ट्रेनिंग हुई।

प्रवेश पत्र हुए अपलोड-सीबीएसई की बेवसाइट पर सभी छात्रों के प्रवेशपत्र आ चुके हैं। अब स्कूल अपनी आईडी से छात्रों के प्रवेशपत्र डाउनलोड कर सकते हैं। रविवार की शाम ही बोर्ड ने प्रवेशपत्र साइट पर अपलोड कर दिए थे। एक दिन में 30 कॉपियों का मूल्यांकन- वक्ताओं ने बोर्ड परीक्षा के साथ मूल्यांकन पर विशेष जोर दिया। ईसा मन जा रहा है उन्होंने कहा कि एक दिन में 25 से 30 कॉपियां जांची जा सकता है । मूल्यांकन के साथ अंकों को उसी दिन अपलोड भी करें। वक्ताओं ने कहा कि परीक्षा में स्कूलों से शिक्षकों को रिलीव किया जाए। कॉपियों का मूल्यांकन सीबीएसई की मूल्यांकन नीति के अलावा अपनी बौद्धिक क्षमता से करें। मूल्यांकन की वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए अंक दें ताकि छात्र का नुकसान न हो। परीक्षा खत्म होने तक प्रिंसिपल नहीं छोड़ें जिला- प्रिंसिपलों को कहा कि जब तक परीक्षा और मूल्यांकन पूरा न हो तब तक वे जिला नहीं छोड़ेंगे। कोई इवेलुएटर अगर मूल्यांकन के दौरान छुट्टी चाहता है तो प्रिंसिपल या स्कूल प्रबंधक नहीं बल्कि हेड एग्जामिनर से ही अवकाश की अनुमति लेनी हो सकती है । 

मूल्यांकन कार्य हर हाल में 10 से 12 दिन में पूरा करना होगा ताकि समय पर रिजल्ट जारी हो सके।पेपर रीडिंग को मिलेंगे अतिरिक्त 15 मिनट- परीक्षा केंद्र पर छात्रों को 10 बजे तक पहुंचना होगा। 10 बजे अंतिम एंट्री होगी और गेट बंद हो जाएगा। 10.15 बजे पेपर बंटेगा। 15 मिनट का वक्त छात्र को पेपर पढ़ने के लिए अतिरिक्त दिया जा सकता है । उत्तर लिखने की शुरुआत छात्रों को 10.30 बजे से करनी हो सकती है । पेपर काल कुल सवा तीन घंटे का होगा।  दिव्यांग छात्रों को मिल सकता है अतिरिक्त समय-दिव्यांग छात्रों के लिए बोर्ड ने इस बार परीक्षा के समय में वृद्धि की है। दो घंटे के पेपर में 10 मिनट, ढाई घंटे के पेपर में 20 मिनट व तीन घंटे के पेपर में 30 मिनट अतिरिक्त वक्त दिव्यांग छात्रों को दिया जा सकता है । बोर्ड का सख्त आदेश है कि दिव्यांग व पीड़ित छात्रों को पेपर जल्दी करने का दवाब या डर दिखाकर तनाव न दिया जाए। ऐसे छात्रों के साथ मित्रवत व्यवहार कर उनकी सहायता करें।