गोरखपुर पहुंचे सीएम योगी ने 14 परियोजनाओं का किया शिलान्यास

Web Journalism course

तीन दिवसीय दौरे पर गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीपीगंज-मेंहदावल मार्ग पर बढय़ा-ठाठर पुल सहित 180 करोड़ रुपये की 14 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसे लेकर बढय़ा ठाठर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने प्रदेश में हो रहे विकास कार्यों की जानकारी मौजूद जनसैलाब को दी।

सीएम ने दी बधाई

आयोजन के दौरान मुख्यमंत्री ने गोरखपुर और संतकबीर नगर जिले की 149 करोड़ रुपये की नौ परियोजनाओं का लोकार्पण और 31 करोड़ रुपये की पांच योजनाओं का शिलान्यास किया। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने बखिरा और बेलहर को नगर पंचायत बनाने पर कैबिनेट की मुहर का जिक्र किया और दोनों ही कस्बों में रहने वाले लोगों को मंच से बधाई दी। सीएम ने कहा कि इससे दोनों ही नगर पंचायतों मेंं नागरिक सुविधाओं में इजाफा होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

जनप्रतिनिधियों ने कहा

संतकबीर नगर के सांसद प्रवीण निषाद ने कहा कि मुख्यमंत्री ने निरंतर विकास का कार्य करके जनता का दिल जीत लिया है। इस अवसर पर विधायक फतेह बहादुर ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयास से कैंपियरगंज क्षेत्र सहित पूरे प्रदेश में विकास को नया आयाम मिल रहा है। उन्होंंने विश्वास जताया कि मुख्यमंत्री का स्नेह कैंपियरगंज की जनता पर आगे भी बना रहेगा। मेंहदावल के विधायक राकेश सिंह बघेल ने कहा कि उनके विधानसभा क्षेत्र के दो कस्बों को नगर पंचायत का दर्जा देकर सरकार ने पुनीत कार्य किया है।

नगर पंचायत अध्यक्ष ने रखी मांग

आयोजन के दौरान पीपीगंज के नगर पंचायत अध्यक्ष गंगा प्रसाद जायसवाल ने अपनी मांगों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने पीपीगंज के दक्षिणी रेलवे क्रासिंग पर ओवरब्रिज निर्माण, मंगलपुर के अधूरे अंडरपास के अविलंब निर्माण, पीपीगंज में महत्वपूर्ण ट्रेनों की ठहराव की मांग उठाई। मुख्यमंत्री ने मांग को पूरा करने का आश्वासन दिया।

तीन साल में हमने बनाए 29 मेडिकल कॉलेज

प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ाने की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले समूचे पूर्वांचल में केवल बीआरडी मेडिकल कॉलेज था लेकिन अब हम देवरिया, बस्ती, कुशीनगर और सिद्धार्थनगर में भी मेडिकल कॉलेज बना रहे हैं। 1947 से 2016 तक प्रदेश में सिर्फ 12 मेडिकल कालेज बना थे लेकिन हमने महज तीन साल में 29 मेडिकल कॉलेज बना दिए।

डॉक्टरों को दो साल तक करनी होगी गांव सेवा

ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने की बात करते हुए मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सरकार के नए प्रावधान के मुताबिक मेडिकल कॉलेज से पढ़कर निकलने वाले हर नए डॉक्टर को दो साल तक ग्रामीण इलाकों में आवश्यक रूप से सेवा देनी होगी। इसे लेकर उनसे अनुबंध पत्र पर हस्ताक्षर कराया जा रहा है।

इनका परियोजनाओं का हुआ लोकार्पण

पीपीगंज-मेहदावल मार्ग पर राप्ती नदी सेतु एवं पहुंच मार्ग का लोकार्पण – 14.52 करोड़

सोनबरसा पिपराइच मार्ग का चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य  – 19.58 करोड़

करमैनी बलुआ खडख़डिय़ा मार्ग का चौडीकरण एवं सुदृढ़ीकरण – 29.63 करोड़

धानी खडख़डिय़ा विश्रामपुर चौराहा मरहठा मार्ग चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण : 15.59 करोड़

कन्टाइन मां स्थान बीएमटी मार्ग से नतवर पडरहवा फरदहनी जसवल मार्ग चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण – 29.76 करोड़

जंगल कौडिय़ा ब्लाक मुख्यालय से डोमिनगढ़पुल तक चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण – 34 करोड़

बढ़वा ठाठर में गोशाला निर्माण कार्य – 57.54 लाख

मेंहदावल बस स्टेशन का निर्माण कार्य – 2.60 करोड़

परसा पाण्डेय में इंटर कालेज का निर्माण – 2.38 करोड़

इनका हुआ शिलान्यास

जंगल कौडिय़ा से तुर्कवलिया होते हुए जसवल चौराहा चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण –  14.16 करोड़

राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन योजना परसा शुक्ल ग्राम पंचायत – 1.68 करोड़

राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन योजना करौदा पंचायत योजना – 1.52 करोड़

राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल मिशन योजना लौहरसन पंचायत योजना – 2.65 करोड़

मेंहदावल में अग्निशमन केंद्र के आवासीय एवं अनवासीय भवनों का निर्माण – 10.54 करोड़

लोक गायक प्रमोद यादव दर्पण ने बांधा समां

मुख्यमंत्री के आयोजन स्थल पर पहुंचने से पहले लोक गायक प्रमोद यादव दर्पण ने मौजूद जनसमूह का जमकर मनोरंजन किया। गीतों के प्रमोद का चुटीला संवाद लोगों को खूब भाया। अपने प्रतिभा से वह तबतक समां बांधते रहे, जबतक मुख्यमंत्री मंच पर पहुंच नहीं गए।

दो जनपद से आए लोग तो उमड़ा जनसैलाब

चूंकि आयोजन स्थल गोरखपुर और संतकबीर नगर जिले की सीमा पर था और जिस पुल का लोकार्पण होना था, उससे दोनों जिलों की जनता को लाभ मिलना थो, सो जनसैलाब उमड़ पड़ा। भीड़ देखकर आयोजक के चेहरे की खुशी देखने लायक थी। दोनों जिलों के जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्र से अधिक जनता के आने का दावा करते दिखे।

इनकी भी रही मौजूदगी

कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही, शीतल पांडेय, उपेंद्र दत्त पांडेय, रमाकांत निषाद, बृजेश यादव, डॉ. धर्मेंद्र सिंह, युधिष्ठिर सिंह, जनार्दन तिवारी, दिनेश सिंह, बमभोले शाही, रामकेर सिंह, जगदम्बा अग्रहरी, अमित सिंह मोनू, विजय शंकर यादव, विंद्रासन चौधरी, शेषमणि त्रिपाठी, धीरज तिवारी, राकेश चौधरी, सदानंद शर्मा आदि।