शादी के बंधन में बंधी रायबरेली की विधायक अदिति सिंह

Web Journalism course

उत्तर प्रदेश के रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह और पंजाब के नवांशहर से कांग्रेस विधायक अंगद सिंह शादी के बंधन में बंध गए। देश की राजधानी दिल्ली में जोरबा होटल में दोनों ने शादी की। परिजन और रिश्तेदारों के अलावा कांग्रेस और भाजपा के चुनिंदा नेताओं की मौजूदगी में विधायक जोड़ों ने सात फेरे लिए।

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने दिल्ली में पंजाब के कांग्रेस विधायक अंगद सैनी के साथ नए जीवन की शुरुआत की। अंगद और अदिति 2017 में विधायक बने और दोनों राजनीतिक परिवारों से आते हैं।

आई लव यू पापा, आई मिस यू पापा…
आई लव यू पापा, आई मिस यू पापा… जैसे भावनात्मक शब्दों में पिरोया गया एक-एक वाक्य कांग्रेस की सदर विधायक अदिति सिंह ने बृहस्पतिवार को विवाह बंधन में बंधने से कुछ घंटों पहले ट्वीट किया तो उनके दिल में मची हलचल जाहिर हुई।

भले ही सदर विधायक के समर्थक में शादी शिरकत करने नहीं जा सके हों, लेकिन उनके करीबियों से शादी के पल-पल की आ रही फोटो को देखकर इस लम्हें को साझा कर रहे थे। दिल्ली में सदर विधायक ने पंजाब के कांग्रेस विधायक अंगद सैनी के साथ नए जीवन की शुरुआत की।

सदर विधानसभा क्षेत्र से लगातार पांच बार विधायक रहे अखिलेश सिंह ने अपने जीवन में ही बेटी अदिति सिंह को विरासत सौंपकर विधायक बनवा दिया।

बेटी की भविष्य की चिंता उन्हें सता रही थी। इसीलिए निधन से कुछ समय पहले ही उन्होंने बेटी की सगाई पंजाब में कांग्रेस विधायक अंगद सैनी के साथ कर दी थी। हालांकि यह बात अखिलेश सिंह के निधन के बाद जगजाहिर हुई। शादी की सभी रस्में दिल्ली के एक होटल में हुईं।

सदर विधायक की शादी को लेकर समर्थक काफी उत्साहित थे, लेकिन दिल्ली में शादी होने के कारण परिवारीजनों के साथ ही गिने-चुने लोग ही राजधानी पहुंचे।

अदिति सिंह ने शादी से पहले पिता अखिलेश सिंह की मौजूदगी में हुई सगाई की फोटो को ट्वीट करते हुए अपनी भावना को व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा है कि एक पिता की सबसे बड़ा सपना उसकी बेटी की शादी करना होता है, पापा आपने अंगद को मेरा सच्चा जीवन साथी चुना, आज इस खुशी के मौके पर आप नहीं हैं। आपकी बहुत याद आ रही है। आई लव यू पापा, आई मिस यू पापा।

बता दें कि अदिति की तरह ही अंगद भी पहली बार वर्ष 2017 में पंजाब विधानसभा के लिए चुने गए। वे पंजाब के शहीद भगत सिंह नगर से विधायक हैं। विधायक अंगद सिंह स्वर्गीय दिलबाग सिंह के परिवार से हैं। दिलबाग सिंह नवांशहर सीट से छह बार विधायक रहे थे।

अंगद सिंह ने 2017 में राजनीति में कदम रखा और शहीद भगत सिंह नगर से विधानसभा चुनाव जीते। वहीं, अदिति सिंह उत्तर प्रदेश के सबसे युवा विधायकों में से एक हैं। वह 2017 का चुनाव रायबरेली सदर सीट से 90 हजार से अधिक वोटों से जीती थीं।