कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में गिरफ्तार किये गए संदिग्ध, पूछताछ जारी

Web Journalism course
हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड पर बवाल बढ़ता जा रहा है। हालांकि हत्याकांड में उत्तर प्रदेश के बिजनौर से दो लोगों की गिरफ्तारी की खबर है। जबकि गुजरात के सूरत से छह संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया है। कमलेश की मां ने परिवार के दो सदस्यों के लिए नौकरी की मांग की है, और यह भी कहा है कि जब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नहीं आएंगे तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। वहीं मृतक कमलेश तिवारी की पत्नी ने चेतावनी दी है कि हमारी मांग नहीं मानी गई तो वह आत्मदाह कर लेगी।

पुलिस ने कमलेश तिवारी हत्याकांड में बिजनौर से दो मौलाना गिरफ्तार किए गए हैं। पुलिस ने मौलाना अनवारुल हक को नगीना के आशियाना कॉलेनी से गिरफ्तार किया है। वहीं, मौलाना नईम कासनी को भी तड़के गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि अनवारूल हक ने चार दिसंबर 2015 को बिजनौर में एसपी ऑफिस के सामने एक प्रदर्शन के दौरान कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वाले को 51 लाख रुपये का इनाम देने का एलान किया था। 

जबकि किरतपुर क्षेत्र के गांव भनेड़ा के मुफ्ती नईम कासमी ने भी कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वाले को करोड़ों रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी। वहीं, गुजरात के सूरत से पुलिस ने 6 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिए गए छह लोगों मे से एक की भूमिका हत्याकांड में संदिग्ध बताई जा रही है। गुजरात एटीएस ने इन सभी को हिरासत में लिया है। आपको बता दें कि गुजरात एटीएस ने यूपी पुलिस और एसआईटी से लगातार संपर्क कर रही है। 

कमलेश तिवारी के परिजनों ने मांग की है कि उनके परिवार के दो सदस्यों को नौकरी दी जाए, इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को घर बुलाने की मांग की है। उनकी मां का कहना है कि जब सीएम योगी नहीं आएंगे तब तक अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। कमलेश की पत्नी का कहना है अगर हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो आत्मदहा कर लूंगी।