शिशु को छूने से पहले ध्यान रखें ये बाते

Web Journalism course

कोई भी मां-बाप नहीं चाहते कि उनका बच्चा बीमार पड़े। खासतौर पर छोटे शिशु। क्या कभी आपने इस बारे में सोचा है कि इतना ध्यान रखने के बावजूद आपकी नन्हीं सी जान भला क्यों बीमार पड़ जाते है ? नहीं तो आज हम आपको बताएंगे कि आखिर ऐसा क्यों होता है।

छोटे बच्चे यानि शिशु बीमार तब पड़ते हैं, जब उनके अंदर रोगाणु यानि Germs प्रवेश कर जाते हैं। इन्हीं रोगाणुओं की वजह से बच्चे को दस्त और बुखार जैसी परेशानियां झेलनी पड़ती हैं। अपने बच्चे को इन सब प्रॉबल्मस की चपेट में आने से आप ही बचा सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे…

एंटी-सेप्टिक साबुन का इस्तेमाल

आप जब भी बाहर से घर जाएं तो सबसे पहले अपने हाथ किसी अच्छे एंटी-सेप्टिक साबुन के साथ जरुर साफ करें। उसके बाद ही बच्चे को गोद में उठाएं। बाहर ज्यादा देर रहने तक धूल-मिट्टी की वजह से हाथों पर जर्म्स लग जाते हैं। अगर आप इन गंदे हाथों से बच्चे को उठाएंगे तो आपका बच्चा बीमार रहने लगेगा।

सर्दी-जुकाम

सर्दी-जुकाम होने पर बच्चे के पास कम से कम जाएं। बच्चे का इम्यून सिस्टम वीक होने की वजह से वह इस प्रॉब्लम की चपेट में जल्द आ सकता है। ब्रेस्ट फीड देते वक्त मां को अपना फेस पर मास्क लगा लेना चाहिए। बच्चे पर सर्दी जुकाम का कोई असर हो इससे पहले ही उसे कुछ घरेलू चीजें देते रहना चाहिए। जैसे कि तुलसी का पानी इत्यादि।

सोते हुए बच्चे को जगाना

कई बार मां-बाप लाड प्यार में या फिर कुछ खिलाने के चक्कर में बच्चे को नींद से उठा देते है। मगर ऐसा करने से बच्चे के विकास पर गहरा असर पड़ता है। शारीरिक विकास के लिए खाने से भी कहीं ज्यादा नींद होती है। बच्चा जब सोकर खुद जागी तभी उसे खाने के लिए खाने के लिए दें।

मां बाप से बिना पूछे न दें खाना

कई बार आस-पड़ोस के लोग बच्चे को अपने घर ले जाते हैं। बच्चों को लाड प्यार करना या फिर उनके साथ खेलना ठीक बात है, मगर उनके मां-बाप से पूछे बगैर बच्चे को कोई भी चीज खाने को न दें। हो सकता है बच्चे को उस खाने से एलर्जी हो या फिर कोई और प्रॉब्लम। हमेशा मां-बाप के सामने ही बच्चे को कुछ भी खाने के लिए दें।

जानवरों से दूर रखें बच्चे को

जानवर चाहे पालतू हो या फिर बाहर के, बच्चों से उनकी दूरी बनाए रखने में ही बेहतरी होती है। केवल अपनी निगरानी में ही कुछ देर के लिए आप बच्चे को नजदीक ले जा सकते हैं। अगर आपने घर में ही कोई जानवर पाल रखा है तो समय-समय पर उनकी वैक्सीनेशन करवाते रहें। ताकि बच्चे को किसी तरह की इंफेक्शन न हो।

बच्चे के होंठ चूमना

कभी भी बच्चों को लाड करते वक्त उनके होंठों पर किस नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से बच्चे के मुंह में जर्मस प्रवेश कर जाते हैं जिससे बच्चे को माउथ फेफड़ों में इंफेक्शन हो सकती है।