स्पिनरों की पिच पर शमी ने ऐसे किया कमाल: भरत अरुण

Web Journalism course

भारतीय गेंदबाजी कोच भरत अरुण अपने बॉलरों के प्रदर्शन से खुश हैं. उनका कहना है कि हमारे गेंदबाजों ने अपने कौशल के बूते पिच की प्रकृति का असर खुद के प्रदर्शन पर नहीं पड़ने दिया. मोहम्म्द शमी ने विशाखापत्तनम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में दूसरी पारी में नीची और धीमी पिच पर शानदार प्रदर्शन किया, जबकि इसके स्पिनरों के मुफीद होने की उम्मीद थी जिस पर रविचंद्रन अश्विन ने तब सात विकेट निकाले, जब बल्लेबाजों को मदद मिल रही थी.

साउथ अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा सीरीज का दूसरा टेस्ट पुणे में 10 अक्टूबर से खेला जाएगा. तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 1-0 से आगे है. भरत अरुण ने कहा, ‘हमें जो विकेट मिलते हैं, हम उसकी मांग नहीं करते. हमें दुनिया की नंबर एक टीम बनने के लिए जो भी परिस्थितियां मिले, उन्हें घरेलू हालात के रूप में स्वीकार करना होगा.’

उन्होंने कहा कि परिस्थितियों पर निर्भर रहने के बजाय हम कौशल पर ध्यान दे रहे हैं. पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने कहा, ‘जब हम विदेश जाते हैं तो हम विकेट के ऊपर ध्यान नहीं देते. हम कहते हैं कि हम इसे घरेलू परिस्थितियों के रूप में देखेंगे, क्योंकि विकेट दोनों टीमों के लिए समान ही है. हम विकेट पर ध्यान देने के बजाय अपनी गेंदबाजी पर काम करेंगे.’

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में भारत नंबर-1 पोजिशन पर है और साउथ अफ्रीका की टीम तीसरे स्थान पर है. भरत अरुण ने कहा, ‘एक अच्छी नंबर वन टीम बनने के लिए आपको हर हालात को स्वीकार कर उसे घरेलू परिस्थिति की तरह लेना चाहिए.’ उन्होंने कहा, ‘अगर आप दुनिया की नंबर वन टीम बनना चाहते हैं, तो आपकी गेंदबाजी यूनिट को विकेट के अनुसार खुद को ढालकर गेंदबाजी करनी होगी.’

साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के आखिरी दिन भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पांच विकेट लेकर भारतीय टीम को जीत दिलाई थी. अरुण ने कहा, ‘यह शमी का शानदार गेंदबाजी स्पेल था, जिसने हमें मैच में वापसी कराई. वरना मुझे लगता है कि उन परिस्थितियों में ऐसा कर पाना बहुत-बहुत मुश्किल होता.’ अरुण ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पहली पारी में अफ्रीकी टीम ने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन दूसरी पारी में वह शमी की गेंदबाजी के आगे लड़खड़ा गए.’