कौशल विकास में भारत की लंबी छलांग

Web Journalism course

भारत जल्द ही पूरी दुनिया के लिए प्रशिक्षित पेशेवर युवाओं का सबसे बड़े स्रोत होगा। कौशल विकास मंत्री महेंद्र नाथ पांडेय के अनुसार भारत में पेशेवर युवाओं की कोई कमी नहीं है और सरकार उन्हें प्रशिक्षित करने के लिए पूरी तरह जुटी हुई है। उनके अनुसार मोदी सरकार की युवाओं के कौशल विकास की नीतियों का नतीजा है कि भारत पिछले चार साल में कौशल विकास 33वें स्थान से 13 स्थान पर पहुंचने में सफल रहा है।

पिछले महीने रूस के कजान में आयोजित विश्व कौशल प्रतियोगिता में मेडल जीतने वाले 19 युवाओं को पुरस्कृत करने के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि 63 देशों में भारत पहली बार 13वें स्थान पर पहुंचने में सफल रहा। जबकि 2015 में भारत 33वें स्थान और 2017 में 17वें स्थान पर था।

महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा कि भारतीय युवाओं को कौशल विकास का बेहतरीन प्रशिक्षण उपलब्ध कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। इसके तहत मुंबई, कानपुर और अहमदाबाद में विश्व स्तरीय इंडियन इंस्टीट्यूट आफ स्किल्स खोला जाएगा।