FD से ज्‍यादा आकर्षक है PPF में निवेश, जानिये कारण

Web Journalism course

फरवरी से लेकर अगस्‍त तक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) रेपो रेट में 1.10 फीसद की कटौती कर चुका है। अब बैंकों पर न सिर्फ लोन की ब्‍याज दरें कम करने का दबाव है बल्कि डिपॉजिट रेट भी घटने शुरू हो गए हैं।

 

बैंक और पोस्‍ट ऑफिस के पारंपरिक फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट, रैकरिंग डिपॉजिट या अन्‍य बचत योजनाओं कही तुलना में पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) आज की तारीख में ज्‍यादा आकर्षक बन गया है। 

पीपीएफ नौकरीपेशा और मध्‍य वर्गीय लोगों के निवेश का पसंदीदा जरिया है। इसमें निवेश कर आप इनकम टैक्‍स बचा सकते हैं, इसके ब्‍याज पर टैक्‍स नहीं लगता और मैच्‍योरिटी पर मिलने वाला रिटर्न भी टैक्‍स फ्री होता है।

जुलाई से सितंबर 2019 की तिमाही के लिए PPF की ब्‍याज दरें 7.9 फीसद हैं। दूसरी तरफ, SBI, PNB, बैंक ऑफ बड़ौदा, ICICI Bank और HDFC Bank फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट पर 7.5 फीसद तक के ब्‍याज की पेशकश कर रहे हैं। अभी इनमें और कटौती हो सकती है।