राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कार के लिए आईआईटी कानपुर युवा एंटरप्रेन्योर की करेगा तलाश

Web Journalism course

मेक इन इंडिया और स्टार्ट अप को गति देने के साथ सस्ती व टिकाऊ तकनीक को स्टार्टअप तक पहुंचाने के लिए भारत सरकार के कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने आईआईटी कानपुर को उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों के छोटे छोटे गांव में ऐसे एंटरप्रेन्योर की तलाश करने की जिम्मेदारी सौपी है जिसको लेकर आईआईटी ने काम करना शुरू कर दिया है।

आईआईटी , विश्वविद्यालय , इंडस्ट्रीज के विशेषज्ञों समेत विभिन्न समाज सेवी संगठनो के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के जिलों में गांव-गांव का भ्रमण करेंगे और वहां अलग-अलग इनोवेटिव आईडिया पर काम कर रहे छोटे-छोटे इंटरप्रिन्योर को तलाश करेंगे। 

यह ऐसी तकनीक होगी जो ग्रामीण क्षेत्रों के युवा विकसित करते रहते हैं लेकिन उन्हें कोई बड़ा मंच नहीं मिल पाता है। चयनित किये गए टॉप एंटरप्रेन्योर को नौ नवंबर को दिल्ली में होने वाले राष्ट्रीय उद्यमिता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

आईआईटी कानपुर के निदेशक प्रोफेसर अभय करंदीकर ने बताया कि  इस अवार्ड का मुख्य उद्देश्य है कि ऐसे उद्धयमियो की पहचान कर उन्हें प्रोत्साहन दिया जाये जिससे पूरे भारत में उद्धयमिता के प्रति लोगो की रूचि बढे और अन्य लोग भी उद्धयमिता के प्रति प्रोत्साहित हो कर कई अन्य लोगो को भी रोजगार दे सके वही इससे देश की आर्थिक विकास में भी मदद मिलेगी।