लखनऊ में जगह जगह गूंजा था सुषमा का ओजस्वी भाषण

Web Journalism course

लखनऊ में चुनाव हो और सुषमा स्वराज का ओजस्वी भाषण न हो,  ऐसा संभव नहीं था। वर्ष 2012 में चौक के संतोषी माता मंदिर के पास आयोजित विधानसभा की चुनावी सभा में सुषमा के संबोधन ने चुनावी हवा को बदल दिया था।

उनकी भाषण देने की कला और अपने संबोधन से हर किसी के करीब पहुंचने वाली सुषमा स्वराज का लखनऊ से खासा नाता रहा था। आलमबाग, निशातगंज, गणेशगंज, लालकुआं, अमीनाबाद, सेक्टर क्यू, अलीगंज में तो उनकी सभाएं होती ही थीं। 

सुषमा स्वराज का लखनऊ से भी नाता रहा है। वह पार्टी के प्रमुख कार्यक्रमों में नजर आती थीं। लोकसभा से लेकर विधानसभा चुनाव तक में स्टार प्रचारकों के रूप में उनकी मांग होती थी। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की चुनावी सभाओं में वह कई बार लखनऊ आईं थीं। लखनऊ में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में भी वह वर्ष 2006 और 2011 में आईं थी। 

उनमें मातृत्व व स्नेह का भाव था और वह सभी कार्यकर्ताओं को सामान भाव देती थीं।