क्या है रिवर्स मोर्गेज ? सीनियर सिटिजन के लिए यह क्यों है बेहतर विकल्प, जानिए

Web Journalism course

रिवर्स मोर्गेज के जरिये  अपने घर को गिरवी रखकर उसपर हर महीने नियमित आय पा सकते हैं। इसका फायदा यह होगा कि  घर का मालिकाना हक भी नहीं बदलेगा और घर  नाम ही रहेगा और नियमित आय भी बनती रहेगी। रिवर्स मोर्गेज होम लोन के उल्टा सुविधा है। होम लोन में आप घर खरीदकर उसका ईएमआई भरते हैं और रिवर्स मोर्गेज में आप अपना घर गिरवी रख उसके बदले पैसे पाते हैं।

कर्जदाता एक कर्ज राशि, आमतौर पर संपत्ति के मूल्य का लगभग 60%, एकमुश्त या आवधिक भुगतान के रूप में देगा। आवधिक भुगतान जिसे रिवर्स ईएमआई के रूप में भी जाना जाता है, एक निश्चित कार्यकाल (अधिकतम 15 वर्ष) से अधिक का भुगतान किया जाएगा।

कार्यकाल के अंत में आय रुक जाएगी लेकिन  मृत्यु तक घर पर अपना कब्जा कर सकते हैं। जब तक जिंदा हैं तब तक किसी भी पुनर्भुगतान की आवश्यकता नहीं होगी। रिवर्स मोर्गेज लोन या तो तब मिलेगा जब  मृत्यु हो जाएगी या  घर बेचने का फैसला करेंगे। मृत्यु पर,  बच्चों के पास कर्ज का भुगतान करने और घर को पुनः प्राप्त करने या कर्जदाता को संपत्ति पर कब्जा करने का विकल्प होगा।