EPF पर मिलता है PPF से बेहतर रिटर्न, जानिए कैसे

Web Journalism course

PPF लंबी अवधि में मोटा फंट जुटाने का एक अच्छा जरिया है। इसी प्रकार जो नौकरीपेशा हैं उनके वेतन से हर महीने EPF में एक खास राशि जमा की जाती है। अगर नौकरीपेशा व्यक्ति चाहें तो वह इनकम टैक्से बचाने के साथ-साथ PPF  की तुलना में ज्यादा रिटर्न भी अर्जित कर सकते हैं।

जिस कंपनी या फर्म में 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं उन्हें EPF स्कीम में शामिल किया जाता है। इसका सीधा सा मतलब है कि इसका फायदा सिर्फ नौकरी करने वाले लोगों को मिलता है। है। EPF में जितनी रकम कर्मचारी की तरफ से डाली जाती है उतनी ही राशि नियोक्ता की तरफ से भी जमा करवाई जाती है।

एंप्लॉई प्रोविडेंट पर वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 8.65 फीसदी का ब्याज दिया जा रहा है। वहीं, पब्लिक प्रोविडेंट फंड की ब्याज दरें वर्तमान में 8 फीसदी है।