Lok Sabha Election 2019 -सभी दल बना रहे चुनावी पैराे़डी

Web Journalism course

Lok Sabha Election 2019 – लोकसभा चुनाव में दंगल मारने की उम्मीदों के साथ चुनाव मैदान में खड़े प्रत्याशी मतदाताओं को रिझाने में कोई कोर-कसर छोडऩा नहीं चाहते। इस कारन वे क्षेत्र विशेष का ख्याल रख हिंदी, मगही, भोजपुरी, नागपुरी, संताली समेत अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में अपनी बातों को गीतों के माध्यम से परोस रहे हैं। भाजपा की तरफ से पैरोडी बनाई गई है।

लोकसभा का चुनाव है, मोदीजी की बात है (जुम्मे की रात है…), मोदीजी को जिताना है, फिर से कमल खिलाना है, ठीक है। (नून रोटी खाएंगे), मैं भी चौकीदार, तुम भी चौकीदार , मिलकर सारे बोलो हम हैं चौकीदार (तमा-तमा लोगे…), भैयाजी वोट देना, भाभीजी वोट देना (सास गाली देबे…ससुराल गेंदा फूल), पइसा कौड़ी कितनो देगा लालच में न आएंगे, हडिय़ा-दारू कितनो देगा अबकी नहीं ठगाएंगे, ठीक है। (नून रोटी खाएंगे…), आवा रे आवा झारखंड कर भाई-बहिन मन (हाय रे हमर छोटा नागपुर…) जैसे कई चुनावी गीत जल्द ही शहर के चौक-चौराहों पर धूम मचाएंगे।

मतदाताओं को हर स्तर पर लुभाने की कोशिश में पॉप, रॉक जैसे हाई स्पीड गानों के साथ-साथ स्लो मोशन के गीत भी रिकार्ड किए जा रहे हैं। स्टूडियो की साख और गानों की गुणवत्ता के हिसाब से एक-एक गाने के 10 से 12 हजार रुपये लिए जा रहे हैं। अगर कोई दल एक साथ कई गानों की फरमाइश करता है तो इस एवज में एक से डेढ़ लाख रुपये के पैकेज पर भी गीत रिकार्ड किए जा रहे हैं।