मायावती- सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को तोड़-मरोड़ कर पेश न करे मीडिया

Web Journalism course

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने बसपा शासन में मूर्तियों के साथ ही पार्क निर्माण में खर्च पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर मीडिया को सलाह दी है कि वह टिप्पणी को तोड़-मरोड़ कर पेश न करे।

मायावती के शासन में उत्तर प्रदेश में स्मारक व पार्क में अनाप-शनाप खर्च पर कल सुप्रीम कोर्ट में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि बसपा मुखिया के कार्यकाल में प्रथम दृष्टया मूर्तियों, स्मारक और पार्कों पर खर्च हुए पब्लिक मनी को सरकारी कोष में लौटना चाहिए। अब इस मामले में अगली सुनवाई दो अप्रैल को होगी।

मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा है कि मीडिया कृपया करके माननीय सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी को तोड़-मरोड़ कर पेश ना करे। माननीय न्यायालय में अपना पक्ष जरूर पूरी मजबूती के साथ आगे भी रखा जाएगा। हमें पूरा भरोसा है कि इस मामले में भी माननीय न्यायालय से पूरा इंसाफ मिलेगा।