पैरंट्स बच्चों को फ्रूट जूस से रखें दूर, ब्रेन के लिए खतरनाक

Web Journalism course

बाजार में बिकने वाले पैकेज्ड फ्रूट जूस में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है और साथ ही साथ इसमें पोषक तत्वों की भी कमी होती है। इसलिए पैरंट्स को अपने बच्चों को फ्रूट जूस नहीं देना चाहिए। कंज्यूमर रिपोर्ट्स की एक स्टडी के अनुसार अमेरिका में बिकने वाले 45 मशहूर ब्रैंड्स के फ्रूट जूस प्रॉडक्ट की जांच की गई जिसमें पाया गया कि इन सभी प्रॉडक्ट्स में कैडमियम, इनऑर्गेनिक आर्सेनिक और मरकरी या लेड पाया गया। 

स्टडी में जिन ब्रैंड्स के जूस को शामिल किया गया था उनमें तकरीबन आधे से ज्यादा ब्रैंड के जूस में मेटल का स्तर काफी ज्यादा पाया गया तो वहीं 7 प्रॉडक्ट्स में भारी मेटल पाए गए जिसकी अगर थोड़ी-सी भी मात्रा या पूरे दिन में आधा कप भी बच्चा पी ले तो उसके लिए यह काफी खतरनाक साबित हो सकता है। इस स्टडी में यह भी बताया गया कि आप बच्चे हों या जवान ऐसे रेडिमेड जूस को लेना बंद कर दें क्योंकि ये सभी के लिए रिस्की है। 

कुछ जूस तो ऐसे हैं जिसमें केवल एक मेटल चिंता का विषय नहीं है लेकिन संयुक्त रूप से और भी मेटल हैं जो बच्चों की सेहत के साथ खिलवाड़ करने के लिए काफी हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार ये मेटल बच्चे के डिवेलपिंग ब्रेन और नर्वस सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकते हैं।