काैन है देश का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर, जानिए, ठंड में हालात और खराब

Web Journalism course

कानपुर में तापमान के बेहद कम होते ही वायुमंडल में हानिकारक गैसों का स्तर कई गुना अधिक हो गया है। कार्बन डाईऑक्साइड (सीओटू), सल्फर डाईऑक्साइड (एसओटू), नाइट्रोजन डाईऑक्साइड (एनओटू) के साथ पर्टिकुलेट मैटर (पीएम 2.5) की मात्रा मानक से कहीं ज्यादा पाई गई है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के नेहरू नगर स्थित मॉनीटरिंग स्टेशन से रविवार को जारी रिपोर्ट में कानपुर देश का दूसरा सबसे प्रदूषित शहर हो गया है।

यह हैं मानक
पीएम 2.5, एनओटू व एसओटू की मात्रा 60 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए। वहीं, सीओ की मात्रा चार मिलीग्राम प्रति क्यूबिक मीटर से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।