अगर है विदेशी विश्वविद्यालयों की पीएचडी डिग्री, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा, मिलेगी सीधे नाैकरी

Web Journalism course

अगर आपके पास दुनिया के चुनिंदा विश्वविद्यालयों की पीएचडी की डिग्री है तो आप देश में सीधे असिस्टेंट प्रोफेसर की नौकरी पाने के पात्र हैं। आपके लिए संबंधित विषय में मास्टर की डिग्री में न्यूनतम 55 फीसद अंक की बाध्यता भी नहीं होगी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा तैयार नवीन नियुक्ति मानकों में ऐसा प्रावधान किया गया है।

 

 

इससे पहले, असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर सीधी भर्ती के लिए भारतीय विश्वविद्यालयों से संबंधित विषय में न्यूनतम 55 फीसदी अंक के साथ मास्टर की डिग्री या मान्यता प्राप्त विदेशी विश्वविद्यालयों से समान डिग्री जरूरी थी। इसके साथ ही अभ्यर्थियों के लिए यूजीसी या सीएसआइआर द्वारा संचालित राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (नेट) या यूजीसी द्वारा मान्यताप्राप्त एसएलईटी, एसईटी जैसी परीक्षा पास करना भी आवश्यक था।

अब सीधी भर्ती की योग्यता रखने वाले अभ्यर्थियों को लिखित परीक्षा नहीं देनी होगी, उनकी नियुक्ति साक्षात्कार के आधार पर होगी।