भारत की आपत्ति के बावजूद पाकिस्‍तान-चीन के बीच बस सेवा शुरू, ये है रूट

Web Journalism course

भारत की तमाम आपत्तियों की अनदेखी करते हुए पाकिस्तान और चीन ने गुलाम कश्मीर के रास्ते बस सेवा की शुरुआत कर दी। यह बस पाकिस्तान के लाहौर से चीन के शिनजियांग प्रांत के काशगर के बीच चलेगी। सोमवार की रात लाहौर के गुलबर्ग से यह बस अपनी पहली यात्रा पर रवाना हुई।

60 अरब डॉलर के महत्वाकांक्षी चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) के तहत सड़क संपर्क स्थापित करने के उद्देश्य से यह बस सेवा शुरू की गई है। भारत ने गुलाम कश्मीर के रास्ते बस सेवा शुरू करने पर चीन और पाकिस्तान से कड़ी आपत्ति जताई थी। चीन के विदेश मंत्रालय ने बस सेवा का बचाव करते हुए कहा था कि इस्लामाबाद के साथ उसके सहयोग का क्षेत्रीय विवाद से कोई लेना-देना नहीं है।

बस के लाहौर से काशगर पहुंचने में 36 घंटे लगेंगे। लाहौर से यह बस शनिवार, रविवार, सोमवार और मंगलवार को चलेगी। जबकि काशगर से यह बस मंगलवार, बुधवार, गुरुवार और शुक्रवार को रवाना होगी। एक तरफ से भाड़ा 13000 रुपये है, जबकि एक साथ आने-जाने का टिकट लेने पर 23000 रुपये लगेंगे।