अपने संबोधन में योगी ने लोगों की भावनाओं का ख्याल रखते हुए यह संकेत भी दिया कि मंदिर उनकी प्राथमिकता में है। उन्होंने कहा कि हर कोई जानता है कि अयोध्या क्या चाहता है। उनकी भावना से जुडऩे ही यहां आया हूं। अयोध्या से कोई अन्याय नहीं कर सकता। अयोध्या की पहचान अयोध्या की ही तरह रहेगी।

योगी ने विकास को ही रामराज बताते हुए यहां महाराजा दशरथ के नाम पर मेडिकल कालेज खोलने के साथ ही भगवान राम के नाम पर एयरपोर्ट बनवाने की घोषणा भी की। साथ ही 176 करोड़ रुपये की योजनाओं का शिलान्यास भी किया।